दुःखद घटना -आत्महत्या करने से पहले छात्र ने बनाया वीडियो, बोला- मेरे मुंह में पेशाब डाली, इससे मैं दुखी हूं

Scn news india

  • आत्महत्या करने से पहले छात्र ने बनाया वीडियो, बोला- मेरे मुंह में पेशाब डाली, इससे मैं दुखी हूं
  • सुसाइड नोट में लिखा- तुम लोग भी तड़प-तड़प कर मरोगे, यह मेरी बददुआ है
  • छात्र ने अपनी मौत के लिए तारावती, प्रियंका और मनोज कोली को जिम्मेदार ठहराया

खनियांधाना।
सिरसौद- साजाैर गांव में माता मंदिर पर जल चढ़ाने गए बीएससी के छात्र की दो महिला व एक व्यक्ति ने मिलकर मारपीट की और लोटे में पेशाब भरकर मुंह में डाल दिया। दु:खी होकर छात्र विकास शर्मा ने बुधवार को घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। आत्महत्या से पहले विकास ने सुसाइड नोट लिखा और अपने मोबाइल में वीडियो भी बनाकर वायरल किया है। सुसाइड नोट में विकास ने तीन नामों का उल्लेख करते हुए लिखा है कि तुम लोग भी तड़प-तड़प के मरोगे, यह मेरी बददुआ है।

बीएससी द्वितीय वर्ष का छात्र विकास शर्मा (22) पुत्र सुशील शर्मा निवासी साजौर लॉक डाउन की वजह से शिवपुरी से गांव लौटा था। बुधवार की सुबह 8-9 बजे वह माता मंदिर पर जल चढ़ाने गया था। हैंडपंप पर पानी भरने पहुंचा तो यहां तारावती कोली और प्रियंका कोली पहले से पानी भरते हुए मिलीं। बर्तन पर छींटे उचटने पर प्रियंका गालियां देने लगीं। इसी दौरान मनोज कोली आ गया और विकास ने गालियां देने का विरोध किया तो तीनों ने मिलकर मारपीट कर दी। मनोज ने उसी के लौटे में पेशाब की और तीनों ने पकड़कर विकास के मुंह में डाल दी। दु:खी होकर विकास घर पहुंचा और घर वालों को बिना बताए कमरे में रस्सी का फंदा बनाकर झूल गया। आत्महत्या से पहले सुसाइड नोट लिखा और मोबाइल में वीडियो बनाकर छोड़ गया है। सूचना अमोला थाना पुलिस मौके पर पहुंची। परिजनों ने हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की। देर शाम पुलिस ने मर्ग के साथ धारा 306 के तहत मुकदमा दर्ज कर मामला विवेचना में ले लिया है। बता दें कि 22-23 अप्रैल 2019 की रात विकास के पंचायत सचिव चाचा बल्लू बोहरे ने कोली परिवार के कोमलप्रसाद की जमीन विवाद पर हत्या कर दी थी। उसी रंजिश के चलते विकास से तीनों ने बदला लिया। जिससे विकास को आत्महत्या करना पड़ी है।

पापा-मम्मी मुझे माफ कर देना, मैं बिना बताए आत्महत्या कर रहा हूं
मैं विकास शर्मा आत्महत्या कर रहा हूं। मेरी आत्महत्या करने का कारण मनोज कोली, प्रियंका कोली, तारावती कोली है। जब में मातन (माता मंदिर) के पास जल चढ़ाने गया, तो तारावती लोधी, प्रियंका कोली हैंडपंप पर पानी भर रही थीं। जब मैं लोटा भरने गया तो वह मुझे देखकर धीरे-धीरे (हैंडपंप) चलाने लगी। जब उनका (पानी) भर गया तो मैंने अपने लोटो को धाेया तो, थोड़ा सा पानी उनके बर्तनों पर चला गया। वह दोनों मुझे गाली देने लगीं और मनोज कोली भी पानी भरने आ गया, वह भी गाली देने लगा। मैंने कहा कि गाली मत दो, मैं तुम्हारे बर्तन साफ कर देता हूं। लेकिन मनोज ने मुझमें धक्का दे दिया, तारावती कोली और प्रियंका कोली ने मेरे बाल पकड़कर उठाया और मुझमें चांटे मारे। मनोज ने मेरे जल के लोटे में पेशाब कर दी। प्रियंका कोली और तारावती कोली ने मुझे पकड़ा और मनोज कोली ने मेरे मुंह में पेशाब डाली और मुझे मुझे मारा। तारावती, प्रियंका और मनोज ने मुझे बिना किसी कसूर के मारा और मेरे मुंह में पेशाब डालकर मुझे आत्महत्या करने पर मजबूर किया है। इन तीनों की वजह से मैं आत्महत्या कर रहा हूं। पापा-मम्मी मुझे माफ कर देना। मैं आपको बिना कुछ बताए आत्महत्या कर रहा हूं। मनोज कोली, तारावती कोली और प्रियंका काली तुम लोगों ने मेरे मुंह में पेशाब डालकर मुझे अपवित्र कर दिया है। तुम लोग भी तड़प-तड़प के मरोगे। यह मेरी बददुआ है। पापा-मम्मी, गुलशन का ध्यान रखना। तुम्हारा – विकास शर्मा। नाम लिखकर अंग्रेजी में भी हस्ताक्षर भी किए हैं। साथ ही कोष्ठक के अंदर विकास ने लिखा है कि मेरे मोबाइल में मेरी वीडियो है, उसे देख लेना।
(जैसा विकास ने सुसाइड नोट में लिखा।)

 

10 सेकंड के वीडियों में बताई पीड़ा: विकास का 10 सेकंड का वीडियो बनाया है। जिसमें विकास कह रहा है कि मेरी आत्महत्या करने का कारण तारावती कोली, मनोज कोली और प्रियंका कोली हैं। इन लोगों ने मुझे बिना किसी कसूर के मारा है। मेरे मुंह में पेशाब डाली, इसलिए आत्महत्या कर रहा हूं।

(घटना दुःखद है। इस घटना का वीडियों एससीएन न्यूज इंडिया के पास सुरक्षित है किन्तु मानवीय संवेदनाओं के वशीभूत वीडियों इंटरनेट पर अपलोड नहीं किया नहीं किया जा रहा। )