विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन उत्कृष्ट विद्यालय हटा में किया गया

Scn news india

अभिषेक जैन
दमोह- राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार एवं श्री एस. एस रघुवंशी, प्रिंसिपल जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के मार्गदर्शन में भारतीय संविधान एवं मूल कर्तव्य-अधिकार विषय पर आज 23.10.19 को विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन उत्कृष्ट विद्यालय हटा में किया गया। शिविर में श्री संजय चैहान, द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, श्री नीरज शर्मा, पंचम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, दमोह एवं श्रृंखला न्यायाधीश, हटा, श्री शरद कुमार लाटोरिया, श्री राजकुमार गौड़ श्री शैलेन्द्र उइके, श्री आर के पाठक, प्राचार्य, उत्कृष्ट विद्यालय हटा, श्री पी एन खेमरिया एवं अन्य शिक्षकगण एवं समस्त छात्र/छात्रायें उपस्थित रहे।

शिविर का शुभारंभ मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर मान्नीय अतिथिगण द्वारा किया गया एवं विद्यालय की छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया।

छात्रों को संबोधित करते हुए श्रीमान् संजय चैहान, द्वितीय अपर जिला न्यायाधीश, हटा द्वारा छात्रों को बताया गया कि संविधान द्वारा प्रत्येक नागरिक को मूलभूत अधिकार प्रदान किये गये है। इसके साथ ही मूलकर्तव्यों का भी अधिरोपण किया गया है। हम हमेशा अधिकारों की बात करते हैं किन्तु कर्तव्यों को भूल जाते है जबकि दोनो एक ही सिक्के के दो पहलू है। उन्होने संविधान द्वारा बताये गये मूल कर्तव्यों के विषय पर छात्रों को विस्तारपूर्वक जानकारी दी एवं बाल दुर्रव्यापार के संबंध में भी छात्रों को अवगत कराया। आपने छात्रों को छात्र जीवन में अनुशासन की आवश्यकता पर रोचक जानकारी दी।

श्री शरद कुमार लटोरिया ने बताया कि विधि की मूल अक्षम्य है सभी नागरिकों को आवश्यक कानून का ज्ञान होना चाहिए, विधि के समक्ष सभी समान होते है तथा सभी को विधि का समान संरक्षण प्राप्त है। भारतीय संविधान में प्रत्येक नागरिक को मूल अधिकार प्रदान किये गये है उनके साथ मौलिक कर्तव्य भी बताये गये है उन्होने मूल कर्तव्यों को बताते हुए कहा कि हमें अपने अधिकारों का प्रयोग करते समय कर्तव्यों को ध्यान रखना चाहिए ताकि दूसरे नागरिकों के अधिकारों का अतिक्रमण न हो सके। उन्होने बताया कि महिलाओं एवं बच्चों के प्रति होने वाले अपराध में कड़े दण्ड का प्रावधान किया गया है ऐसे अपराधों को जिम्मेदार नागरिकों के संज्ञान में लाना आवश्यक है ताकि उन्हें दण्डित किया जा सके। साथ ही आपने छात्र/छात्राओं को छात्र जीवन में अनुशासन एवं एकाग्रता के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।

आयोजित शिविर में दिनांक 05.09.2019 को आयोजित निबंध प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय आये छात्रों को प्रमाण-पत्र एवं शील्ड का वितरण किया आभार श्री आर के पाठक, प्राचार्य द्वारा व्यक्त किया गया। कार्यक्रम का संचालन श्री पी एन खेमरिया द्वारा किया गया एवं कार्यक्रम के अंत में आभार श्री आर के पाठक प्राचार्य द्वारा व्यक्त किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All rights reserved by "scn news india" copyright' -2007 -2019 - (Registerd-MP08D0011464/63122/2019/WEB)
error: Content is protected !!