पलायान कर रहे मजदूरों से भरे 2 वाहन दुर्घटनाग्रस्त, आधा सैंकड़ा से अधिक मजदूर घायल

Scn news india

स्वप्निल जैन ब्यूरों
खनियांधाना।
शिवपुरी। कहा जाता है कि मुसीबत जब आती है तो चारों तरफ से घेरकर आती है। जिसका ताजा उदाहरण आज अमोला और सुरवाया थाना क्षेत्रों में देखने को मिला। जहां लॉकडाउन में बेगारी की मार झेल रहे मजदूर जैसे-तैसे अपने घरों की ओर पहुंच रहे हैं। लेकिन श्रमिक जगह-जगह दुर्घटनाग्रस्त होकर अपनी जान गंवा रहे हैं।

अमोला पुल और फोरलाईन वायपास पर आज सुबह हुई दो अलग-अलग घटनाओं में आधा सैकड़ा से अधिक मजदूर घायल हो गए। जिनमें से दो की हालत गंभीर होने के चलते उन्हें ग्वालियर रैफर कर दिया है।

जानकारी के अनुसार पहली घटना रात्रि में सुरवाया थाना क्षेत्र में हुई। जहां टाटा 407 पिकअप वाहन क्रमांक एमएच 04 एचडी 3744 में मौजूद लगभग 30 से अधिक मजदूर महाराष्ट्र से यूपी जा रहे थे। रात्रि में वाहन चालक ने फोरलाइन वायपास पर अपने ट्रक को सडक़ किनारे खड़ा कर झांसी जाने का रास्ता पूछने का प्रयास किया। लेकिन उससे पहले ही पीछे से आ रहे एक अज्ञात वाहन ने पिकअप में टक्कर मार दी।

जिससे पिकअप में सवार लोग घायल हो गए। आनन-फानन में पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायलों को डायल 100 की सहायता से शिवपुरी अस्पताल पहुंचाया। जहां उनका इलाज किया गया। वहीं कुछ मजदूरों को हल्की फुल्की चोटें आई थी। उनका सुरवाया स्वास्थ्य केन्द्र में ही इलाज कराया गया।

जिन लोगों को शिवपुरी अस्पताल लाया गया उनमें भोला यादव निवासी ग्राम कटी, महारानी दीन निवासी टुंडा प्रतापगढ़, शिवदास वर्मा, सुबागिया, तुलसीराम निवासी ग्राम कुलबाजार चित्रकूट, अमरेंद्र यादव पुत्र विजय बहादुर यादव, नीतेश यादव, नन्हेलाल यादव निवासी प्रतापगढ़, सालिगराम पासवान, मिश्रीलाल निवासी बस्ती बहराइच, शेषराज यादव निवासी बहराइच, शिवलाल निर्मल निवासी मणीपुर, सुभाष यादव, जयदीन यादव निवासी प्रतापगढ़ घायल हो गए। जिनमें से सुभाष और जयदीन को ग्वालियर रैफर किया गया है।
वहीं दूसरी घटना अमोला पुल पर आज सुबह साढ़े 6 बजे घटित हुई। जहां सडक़ किनारे खड़े ट्रक में मजदूरों से भरा ट्रक क्रमांक एमएच 43 वाय 5481 टकरा गया। बताया जाता है कि दुर्घटनाग्रस्त ट्रक में 80 से अधिक मजदूर सवार थे। जिनमें से अधिकतर लोगों को चोटे आई हैं। जबकि जिन लोगों को अधिक चोटे आई थी, उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घायलों में अमजद अली निवासी कथौलिया संतकबीर नगर, राकेश तिवारी निवासी बहराइच, वसीम हुसैन निवासी सिद्धार्थ नगर, सुदाराम बघेलिया निवासी बहराइच, उमेश कुमार तिवारी निवासी दुर्गापुर उत्तरप्रदेश, महेंद्र कुमार प्रजापति निवासी सिद्धार्थ नगर, लोकनाथ पासवान निवासी बहराइच, अमरजीत पासवान निवासी बहराइच, पवन कुमार तिवारी निवासी सराबस्ती, सूरज तिवारी निवासी बहराइच, संजय कुमार सहित अनेकों मजदूर शामिल हैं।