शराब के शौकीनों ने पहले दिन ही तोड़ा सोशल डिस्टेंसिग घेरा,जिम्मेदार बेपरवाह ?

Scn news india

  • शराब खरीदने उमड़ी लोगों की भीड़?
  • लंबे इंतजार के बाद दोपहर बाद खुल गई ठेका शराब दुकान-

दिलीप पाल ब्यूरों आमला 

आमला-बीते लंबे समय से बंद ठेका शराब दुकान बुधवार जिला प्रशासन से हरी झंडी मिलते ही दोपहर बाद खोल दी गई है।कोविड 19 के दौरान लागु लॉक डाऊन को दृस्टिगत रख प्रशासन द्वारा शराब दुकान संचालित करने नियम निर्देश भी सम्बंधित शराब ठेकेदार को दिये गये है।लेकिन निर्धारित नियमो का पालन कराने वाले जिम्मेदार स्थानीय प्रशासन प्रमुख बेपरवाह है।जिम्मेदारो की गैर मौजूदगी में ठेकेदार द्वारा बस स्टेंड स्थित अंग्रेजी शराब दुकान पर शराब की बिक्री शुरू कर दी है।अनदेखी के चलते शराब दुकान पर निर्धारित लॉक डाऊन नियम निर्देश को दरकिनार कर लोगों द्वारा सोशल डिस्टेंसिग घेरा तोड़ कर शराब की बिक्री बदस्तूर जारी है।लेकिन इन पर नकेल कसने वाले जिम्मेदार नदारद है।


— भनक लगते ही उमड़ी भीड़- आज दोपहर बाद शराब दुकान खुलने की खबर लगते ही लोगों का हुजूम बस स्टेंड स्थित ठेका शराब दुकान का रुख करने लगा था।इस दौरान शराब खरीदने लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी थी।लोग लॉक डाऊन नियमों की धज्जिया उड़ा सोशल डिस्टेंसिग घेरे को तोड़ शराब ख़रीदते देखे गये।बाउजूद न तो शराब दुकान में कार्यरत कर्मचारियों ने इनसे लॉक डाऊन नियम एवं सोशल डिस्टेंसिग अपनाने की गई।और नहीं नियमो का पाठ पढ़ाने कोई जिम्मेदार मौजूद था।जिसके चलते लॉक डाऊन नियमों को दरकिनार कर शराब की बिक्री होती रही।आगे देखना होगा क्या यू ही लॉक डाऊन नियमो को धाता दिखा नगर में होंगी शराब की बिक्री या लगेगा इस पर अकुंश जिसका रहेगा इंतजार।इस सम्बंध में जब स्थानीय प्रशासन प्रमुख तहसीदार नीरज कालमेघ से दुरभाष पर उनकी प्रतिक्रिया जाननी चाही गई तो न ही उन्होंने फोन रिसीव किया और नही काल रिटर्न ऐसे में कैसे पालन होंगा लॉक डाऊन नियम निर्देस का यह बात एक विचारणीय प्रश्न का विषय है।