क्वारेंटाइन से भागे ग्रामीण पति-पत्नी ने की कोरोना फाइटर्स के साथ अभद्रता,बुलानी पड़ी पुलिस

Scn news india

प्रवीण मलैया ब्यूरों 

घोड़ाडोंगरी- कोरोना महामारी के संकट के समय में कोरोना फाइटर्स  का जहाँ सम्मान किया जा रहा है वही ग्रामीण क्षेत्रों में काम करने वाले कोरोना फाइटर्स कैसी कैसी ज़िल्लते झेल रहे है ये भी देखिये।

हम इस वीडियों को इस लिए बिना एडिट किये दिखा रहे है कि  कम से कम सरकार इन मैदानी कर्मचारियों के बारे में सोचे जो रात दिन एक कर लोगो की सेवा में जुटे है।

 

पर कोरोना संदिग्ध व्यक्ति द्वारा पत्थरबाजी व मारपीट का मामला कई बार सामने आया है ऐसा ही मामला ग्राम हीरावाड़ी में देखने को मिला जहां एएनएम सरला राठौर ,आशा कार्यकर्ता संगीता हाथिया एवं आशा सहयोगी अनीता पंडाग्रे कोरोना फाइटर के रूप में चेकअप स्क्रीनिंग के लिए पहुंचे l जिन पर संदिग्ध के द्वारा अपशब्द का प्रयोग किया गया एवं लाठी उठाकर मारने की कोशिश की गई l

 

थाना प्रभारी नीरज पाल ने दी समझाईश 

एससीएन न्यूज इन्डिया के संवाददाता प्रवीण मलैया द्वारा उक्त घटना की सुचना रानीपुर थाना प्रभारी नीरज पाल को देने पर  तत्काल  ही वे मौके पर पंहुचे।  उन्होंने बताया की घटना की जानकारी सुबह मिल गई थी।  जिस पर थाने से सुबह 8 बजे पुलिस बल भेजा गया था, किन्तु दोनों पति-पत्नी नशे की हालत में थे। इसलिए उनसे बात कर पाना अभाव नहीं था। उनके होश में आने का इन्तजार किया जा रहा था। 

थाना प्रभारी नीरज पाल ने पतिपत्नी को समझाईश दे कर फिर से क्वारेराइन सेंटर में जाने के लिए राजी करा लिया है।

 

क्या है मामला
बता दे की 3 मई को शाम 5:00 बजे इटारसी से हीरावाड़ी आए गोमा /भिखारी लाल को ग्राम हीरा वाड़ी के वासियों द्वारा आशा कार्यकर्ता को सूचना देने पर मौके पर ही आशा कार्यकर्ता ने रात 9:00 बजे गोमा को शासकीय स्कूल हीरा वाड़ी मैं क्वॉरेंटाइन किया गया जिसके बाद रात्रि में गोमा की पत्नी द्वारा आशा कार्यकर्ता संगीता हाथिया के घर जाकर उन्हें अपशब्द कहे गए एवं रात में ही गोमा की पत्नी उन्हें लेकर अपने घर चली गई जिसके पश्चात दोनों ही पति पत्नी संदिग्ध की स्थिति में आ गया यह सूचना सुबह आशा कार्यकर्ता संगीता हाथिया को मिलते ही आशा कार्यकर्ता द्वारा एएनएम सरला राठौर को सूचित किया गया इसके पश्चात एएनएम सरला राठौर आशा सहयोगी अनीता पंडाग्रे आशा कार्यकर्ता संगीता हाथिया गोमा के घर सुबह 10:30 बजे मौके पर उनकी स्क्रीनिंग के लिए पहुंचे किंतु गोमा एवं उनकी पत्नी शराब के नशे में अपने घर में बेहोशी की हालत में पड़े हुए थे 2 घंटे इंतजार करने के बाद दोनों संदिग्ध होश में आए जिसके बाद संदिग्धों के द्वारा एएनएम, आशा कार्यकर्ता एवं आशा सहयोगी पर अपशब्द का प्रयोग किया गया एवं गोमा की पत्नी द्वारा एएनएम,आशा कार्यकर्ता एवं आशा सहयोगी को लकड़ी से मारने की कोशिश की गई l
वहीं दूसरी ओर 4 मई को सुबह लोकल तलाई से आऐ हुए दीपक /राजू राठौर ,रोहित /दिनेश राठौर की सूचना मिलने पर एएनएम आशा कार्यकर्ता एवं आशा सहयोगी द्वारा ग्राम हीरा वाड़ी के आंगनवाड़ी में क्वॉरेंटाइन किया गया।