बैतूल जिले की घोघरी और वर्धा समूह नल-जल योजना स्वीकृत : पीएचई मंत्री श्री सुखदेव पांसे

scn news india

बैतूल,
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने बताया हैकि बैतूल जिले में घोघरी और वर्धा समूह नल-जल योजना को राज्य शासन ने स्वीकृति प्रदान कर दी है। करीब 370 करोड़ लागत की ये योजनाएँ आगामी दो वर्ष में पूर्ण की जायेंगी। उन्होंने कहा कि इससे मुलताई और प्रभात पट्टन विकासखण्ड के 255 गाँव की 2 लाख 70 हजार आबादी को भीषण जल संकट से मुक्ति मिलेगी।

मुख्यमंत्री का आभार
——————-
मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने नल-जल योजनाओं की स्वीकृति के लिये मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने बताया कि मुलताई और प्रभातपट्टन विकासखण्ड के ग्रामीण अंचलों में भू-जल स्तर पर निरंतर गिरावट के कारण ग्रामीणों के लिये पेयजल का गंभीर संकट उत्पन्न हो गया था। दोनों विकासखण्ड में एक हजार फीट तक बोर करने पर भी ग्रामीणों को पेयजल नहीं मिल पा रहा था। इस कारण ग्रामीण महिलाएँ और बेटियां दूर-दूर तक पैदल जाकर पेयजल लाती थीं। श्री पांसे ने कहा कि अब ताप्ती नदी से दोनों विकासखण्डों के 55 हजार परिवारों के घर शुद्ध पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित होगी।
वर्धा समूह नल-जल योजना की लागत 135 करोड़ है। इससे 93 गाँव के 20 हजार परिवार लाभान्वित होंगे। इस योजना में 120 लाख लीटर क्षमता का जल शोधन संयंत्र स्थापित किया जायेगा। ग्रामीणों को 54 उच्च स्तरीय टंकियों के माध्यम से साल भर शुद्ध पेयजल प्रदाय किया जायेगा।
घोघरी समूह नल जल योजना की लागत 235 करोड़ है, इससे 163 गाँव के 35 हजार परिवार लाभान्वित होंगे। इस योजना में 200 लाख लीटर क्षमता का जल शोधन संयंत्र स्थापित किया जायेगा। ग्रामीणों को 94 उच्च स्तरीय टंकियों के माध्यम से साल भर शुद्ध पेय जल प्रदाय किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!