ट्रांसपोर्टर्स के साथ कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने बैठक कर दिए निर्देश, ट्रकों में किसी बाहरी व्यक्ति को बैठाकर न लाएं

Scn news india

स्वप्निल जैन ब्यूरो 

खनियांधाना।
अभी कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए लॉक डाउन किया गया है। बाहर से आने वाले मजदूरों की स्क्रीनिंग की जा रही है लेकिन यह शिकायत भी सामने आ रहीं हैं कि ट्रकों में बैठकर कुछ लोग बिना सूचना के जिले में आ रहे हैं। इस प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी,इसलिए यह सुनिश्चित करें कि ट्रकों में कोई व्यक्ति बैठकर न आये और वाहन चालकों को भी इस संबंध में निर्देशित करें। अन्यथा संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। यह निर्देश कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के साथ आयोजित बैठक में दिए। उन्होंने कहा है कि आवश्यक वस्तुओं का परिवहन जरूरी है इसलिए सभी ऐसी व्यवस्था बनाएं कि परिवहन सुचारू रूप से चलता रहे और संक्रमण के खतरे से भी बचा जा सके।
बुधवार को कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने ट्रांसपोर्टर्स के साथ बैठक रखी। इस दौरान अपर कलेक्टर आर एस बालोदिया, जिला परिवहन अधिकारी श्रीमती मधु सिंह सहित लोकल ट्रक यूनियन अध्यक्ष अब्दुल रफीक, शिवपुरी आल इंडिया ट्रांसपोर्ट यूनियन के अध्यक्ष सूबेदार सिंह, उपाध्यक्ष और सचिव हृदेश सचदेव उपस्थित थे।
कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने बैठक में कहा कि अभी प्रधानमंत्री आवास, ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा कार्य प्रारंभ होने जा रहे हैं। इसलिए निर्माण सामग्री का परिवहन जरूरी है। अभी राजस्थान, गुजरात और अन्य राज्यों से भी मज़दूर जिले में आ रहे हैं। लेकिन यह ध्यान रखें कि अनाधिकृत तरीके से कोई मज़दूर न आये। कोई भी व्यक्ति बिना सूचना के सामान के साथ ट्रकों में बैठकर ना आए। यह समस्या उत्पन्न कर सकता है। इसके बारे में वाहन चालकों को सख्ती से पालन करने के लिए बताएं।
बैठक में कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इंदौर, मुंबई से आने वाले वाहन चालकों की सूची जिला प्रशासन को उपलब्ध कराएं ताकि आवश्यक होने पर मेडिकल टीम द्वारा वाहन चालकों का चेकअप कराया जा सके।