कोरोना को हराने वर्दी के साथ पुलिस दिखा रही हमदर्दी

Scn news india

प्रवीण मलैया ब्यूरों 

सारनी-चोपना पुलिस कोरोना को हराने वर्दी के साथ हमदर्दी दिखा रही हैं। पहले दूरस्थ ग्राम भंडार पानी। फिर दानवाखेड़ा, भटोड़ी, चिखलपाठी और अब कोलिया गांव के जरूरतमंदों की मदद में चोपना पुलिस खुलकर सामने आई है। यहां के थाना प्रभारी गोविंद सिंह राजपूत और उनकी पूरी टीम इस संकट के दौर में ग्रामीणों की मदद में कितने सक्रिय है। इसका अंदाजा दूरस्थ ग्रामों में मैं निवासरत जरूरतमंदों कि सतत सेवा से ही लगा सकते हैं। चोपना पुलिस द्वारा पहले भंडार पानी गांव जो कि बैतूल होशंगाबाद और छिंदवाड़ा जिला की सीमा पर 1808 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। वहां 100 किलो गेहूं 50 किलो चावल, 100 किलो आटा, 20 किलो दाल, 20 लीटर तेल समेत नमक मिर्च जैसी जरूरी सामग्री पहुँचे गई। इसके बाद दोबारा यही सामग्री भंडारपानी में वितरण की गई। सोमवार को पुलिस ने भंडार पानी की तरह है बिजली की सुविधा से दूर वन ग्राम दानवाखेड़ा।

जहां से यह सूचना मिली कि ग्रामीण महुआ खाकर गुजर-बसर कर रहे रहे हैं। वहां पहुंचकर 53 परिवार चिन्हित कर उन्हें भी 100 किलो आटा, 100 किलो चावल, दाल धनिया, मिर्च, तेल, नमक जैसी खाद्य सामग्री वितरण की। इसी तरह कोलिया गांव से सूचना मिली कि यहां भी जरूरतमंद लोग खाद्य सामग्री के लिए तरस रहे हैं। वहां जाकर भी पुलिस टीम ने खाद्य सामग्री वितरण की। चोपना थाना प्रभारी गोविंद सिंह राजपूत ने बताया कि चिखलपाटी गांव में एक गर्भवती महिला जिनके पति राजस्थान में है। लॉक डाउन के चलते वहां से आ नहीं सकते। इनके द्वारा सीएम हेल्पलाइन पर सूचना दी गई। वहां से चोपना पुलिस को जानकारी प्राप्त हुई। इसके बाद चोपना पुलिस ने गर्भवती महिला को खाद एवं जरूरी आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराई। चोपना पुलिस द्वारा मंगलवार को भतोड़ी गांव जो कि बैतूल, होशंगाबाद की बॉर्डर पर है। इस गांव में पहुंचकर भी खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई। पुलिस के इस सेवाभावी कार्य को वर्दी के साथ हमदर्दी से जोड़कर देखा जा रहा है। साथ ही पुलिस के इस रूप की सभी जगह तारीफ हो रही है।