मासूम बच्ची का अपहरण कर दुष्कर्म के बाद की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

Scn news india

मनोहर भोपाल

बैतूल – झल्लार – विगत दिनों 15 मार्च को चिचोली थाना क्षेत्र से दिन दहाड़े मासूम बच्ची अपहृरण करने वाला आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा है। जिसकी निशानदेही पर मासूम का कंकाल नांदा के जंगल से बरामद हुआ है। आरोपी ने बच्ची का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दे कर उसकी निर्ममता से हत्या कर दी।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रद्धा जोशी द्वारा  जानकारिनुसार   आरोपी ने बच्ची का अपहरण कर रेप किया और फिर हत्या की है। जिसका कंकाल बरामद किया गया है। आरोपी ने वारदात के दिन ही घटना को अंजाम दिया था।

क्या है पूरा मामला –

विगत 15 मार्च को शेंदुरजना गाँव के किसान बुद्धू कुमरे ने थाना चिचोली में अपनी तीन वर्षीय पुत्री के गुम होने की शिकायत दर्ज कराई थी। जिसके बाद लोगों के द्वारा युवक को बच्ची को ले जाते देखे जाने की बार सामने आई जांच में पता चला कि  युवक ने चॉकलेट देने के बहाने बच्ची को बाइक से उठा ले गया। आरोपी की पहचान विनोद उर्फ़ पिंकू साबले दभेरी बैतूल बाजार के रूप में सामने आई।  जिस पर पुलिस ने घेरा बंदी कर युवक की तलाश की ले किन युवक का कोई सुराग नहीं चला.

पुलिस अधीक्षक ने घोषित किया था इनाम 

सनसनी खेज घटना को अंजाम दे कर फरार आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी , लेकिन शातिर बदमाश  पुलिस को चकमा दे कर छकाता रहा जिसके गिरफ्तारी हेतु पुलिस अधीक्षक द्वारा 10 हजार रु के इनाम की घोषणा भी की गई थी।  

बच्ची के मिलने की अफवाह भी चली 

बच्ची के लापता होने के तीन दिनों बाद खबर आई की बच्ची बिहार के छपरा में मिली है। जिसे जीआरपी ने बरामद किया है। खबर के बाद चिचोली थाना से गठित दल तस्दीक करने पंहुचा था किन्तु खबर अफवाह निकली थी। 

25 दिनों तक घूमता रहा आरोपी 

घटना को अंजाम देने के बाद 25 दिनों तक पुलिस को चकमा देते घूमता रहा आरोपी इस दौरान चिचोली पुलिस द्वारा अपहरण मामले में एवं मुलताई पुलिस द्वारा वाहन चोरी मामले में आरोपी के स्क्रेच जारी कर सरगर्मी से तलाश की जाती रही। 

झल्लार के युवाओं ने दिखाया कमाल 

9 -10 अप्रेल को शातिर आरोपी विनोद मोटर बाइक से गजानन मोहल्ला आमला झल्लार रोड से संदिग्ध परिस्थितियों में मुहल्ले के जागरूक युवाओं के दिखाई दिया जिसमे लॉक डाउन में घुम रहे युवक पर संदेह होने से पकड़ पूछताछ की जिसके पास एक रजिस्टर की मिला जिसमे कई लोगों के नाम लिखे थे। युवाओं ने उक्त युवक को दबोच आरोपी के स्क्रेच से मिलान होने पर तत्काल झल्लार पुलिस थाने ले गए। जहाँ तीन युवाओं ने उसे पुलिस के हवाले किया। पहली नजर में पूछताछ में युवक ने सिर्फ बाइक चोरी करना कबूला और बताया की वह जिस बाइक से घूम रहा है वह भी चोरी की है। बच्ची के मामले में साफ़ मुकर गया। झूठा आरोप बताया। लेकिन जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो बड़ा खुलासा हुआ। 

कबूला जुर्म 

शातिर आरोपी पहले तो पुलिस को गुमराह करता रहा फिर सख्ती के बाद जो बताया वो रोंगटेखड़े करने वाला था। उसने अपना गुनाह कबूल करते हुए बताया की उसने ही मासूम बच्ची का अपहरण किया है और दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर नांदा के जंगल में शव फेक दिया। जिसकी निशानदेही पर पुलिस ने कंकाल बरामद किया है।  

पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल 

लॉक डाउन के दौरान इतनी कड़ी सुरक्षा में आखिर आरोपी झल्लार सहित अन्य स्थानों पर कैसे घूमता रहा जबकि पुलिस का सख्त पहरा है सड़के सुनसान है। लोग घरों में है। पुलिस हर आने जाने वालों की खबर ले रही है। नाकेबंदी है। ऐसे में आरोपी युवक का बेखौफ घूमना सवालों के घेरे में है। और पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था पर भी प्रश्नचिन्ह खड़े करती है। 

जिम्मेदारी का निर्वहन किया 

एससीएन न्यूज इंडिया के पास युवक के पकडे जाने से ले कर अब तक  मामले पर नजर थी।  जब तीन युवाओं के द्वारा आरोपी को पकड़ा गया तभी हम स्क्रेच से मिलते जुलते व्यक्ति का हवाला दे कर खबर को प्रकाशित कर सकते थे किन्तु हमने अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन किया है। एक जिम्मेदार मिडिया संस्थान होने के नाते हमारा पहला कर्तव्य था की पुलिस की कारवाही में सहयोग दे कर अपहृत बच्ची को सकुशल बरामद करना था । हमारे प्रकाशन से यदि बच्ची किसी के पास होती तो वह सतर्क हो जाता और इधर उधर करा सकता था जिसके चलते प्रकाशित करने के बजाय खबर को रोक नजरे बनाये रखी । और मामले के पटाक्षेप होते तक पुलिस को कारवाही में सहयोग किया। वही आरोपी को पकड़ने वाले युवकों के नाम भी गोपनीय रखे। किन्तु दुःख की बात है की आरोपी ने बच्ची की हत्या कर दी। 

हमने बच्ची के अपहरण से लेकर हर छोटी से छोटी जानकारी पाठकों के सामने रखी  जिसमे चिचोली ब्यूरों राजेंद्र दुबे , झल्लार ब्यूरों अलकेश साहू ,शाहपुर ब्यूरों नवील वर्मा , मुलताई ब्यूरों आदर्श साहू – रुपेश लोखंडे एवं चैनल हेड हर्षिता वंत्रप व् पूरी टीम की पैनी नजर रही ।