ग्रामीणों ने लगाईं तख्ती बनी चर्चा का विषय , जागरूक ग्रामीणों ने रास्ते किये बंद -लॉक डाउन

Scn news india

प्रवीण मलैया ब्यूरों 

बाकुड -ग्राम पंचायत बाकुड में ग्रामीणों के द्वारा बैरिकेड लगाकर गांव में आना जाना पूर्णत प्रतिबंधित कर दिया है वही सड़क पर लगा बैनर खासी चर्चा का विषय बना हुआ है।  जिस पर ग्रामीणों द्वारा लिखा गया है कि  – ग्राम बाकुड पंचायत पूर्णतः प्रतिबंधित है।  कोरोना वायरस की महामारी के कारण आवागमन पूर्णतः प्रतिबन्धित है। आवेदन , निवेदन , ना माने तो दना दन।

ग्रामीणों का कहना है कि  जब सरकार कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी ताकत लगा कर लड़ रही है। प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री बिना सोये रात दिन एक एक केस हिस्ट्री की मॉनिटरिंग करा रहे है।  तो भारत के हर नागरिक का फर्ज है कि  इस वैश्विक महामारी के संक्रमण को ख़त्म करने आगे आये ये कोई सरकार की लड़ाई नहीं है। हम सभी की जिम्मेदारी है की लाकडाउन का पूरी जिम्मेदारी से पालन करे। लेकिन देखने में आया है की कुछ लोग इसे गंभीरता से नहीं ले रहे।  जिस लिए पंचायत के ग्रामीणों ने ऐसा कदम उठाया है।

बारे दे की ग्राम बाकुड शहरी क्षेत्र से लगा हुआ है जो सारणी लगा हुआ है  वही आमला को भी जोड़ता है जहाँ से नागपुर छिंदवाड़ा से लोगों के आवागन की संभावना होती है। इसे देखते हुए ग्राम बाकुर के सदस्यों ने ग्राम को सील कर लिया है जिससे कोई भी संक्रमित व्यक्ति गांव में नहीं आ पाएंगे ,सूचना पर  शाहपुर तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा एवं पटवारी रामदास भी मौके पर निरिक्षण करने पहुंचे।