हनुमान जयंती पर मंदिरों में हुई सजावट, लेकिन श्रद्धालुओं ने घर में रहकर ही किया पूजा-पाठ

Scn news india

स्वप्निल जैन खनियांधाना 

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के परम भक्त संकट मोचन पवन पुत्र हनुमान की जयंती बुधवार को खनियांधाना में हर्षोल्लास पूर्वक मनाई गई। नगर के सभी हनुमान मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। इनमें नगर के प्राचीन व प्रसिद्ध टेकरी मंदिर, धंधोरा मंदिर व मेन बाजार में स्थित हनुमान मंदिर शामिल है। इस बार लॉकडाउन के चलते हुए मंदिरों में सिर्फ पुजारियों को ही प्रवेश की अनुमति थी, उनके द्वारा ही मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया गया। विधि-विधान पूर्वक मंत्रोच्चार से पूजा-पाठ किया गया। शेष श्रद्धालुओं द्वारा अपने घर रहकर ही हनुमान चालीसा, सुंदरकांड का पाठ कर बजरंग बली से कोरोना सहित अन्य संकट दूर करने की प्रार्थना की गई। घर-घर दीपक जलाए गए।

नगर के मेन मार्केट स्थित हनुमान मंदिर के पुजारी जय कुमार पांडे व कार्यकर्ता मयंक पुरोहित, धर्मेंद्र सोनी, चेतन सोनी आदि ने बताया कि हर वर्ष हनुमान जयंती पर नगर के सभी मंदिरों में श्रद्धालुओं का मेला लगता था तथा दूर-दूर तक श्रद्धालु विभिन्ना मंदिरों में दर्शनों के लिए पहुंचते थे, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ शासन प्रशासन द्वारा लॉक डाउन के चलते हुए जो निर्देश दिए गए हैं, उन निर्देशों के तहत सभी श्रद्धालुओं से अपील की गई कि वह विश्व कल्याण की भावना के साथ अपने घरों पर ही हनुमान की आराधना करें, मंदिरों में एकत्रित न हों। प्रतिवर्ष यहां पर विशाल भंडारा का भी आयोजन होता था। इस बार भी हनुमान को खीर का भोग लगाकर यहां से निकल रहे भक्तगणों को वितरित किया।

घर का बचा हुआ भोजन, टोस्ट, बिस्किट आदि खिलाकर कर रहे पशु सेवा

खनियांधाना।
पूरे देश में जारी लॉक डाउन के चलते इंसानों के साथ ही पशुओं के ऊपर भी भोजन, पानी का संकट आया है। ऐसी घड़ी में कई लोग अपने-अपने तरीके से पशुओं के भोजन का प्रबंध करने में लगे हैं। खनियांधाना में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इस संकट की घड़ी में पशु सेवा कार्य कर रहा है। विद्यार्थी परिषद के सह संयोजक मयंक जैन ने बताया कि उनकी टीम की यह मुहिम मूक पशुओं जो एक स्थान पर बैठे रहते है व भूखे रहते है तो उन्हें कार्यकर्ताओं के घर से बचे भोजन, टोस्ट, बिस्किट आदि के माध्यम से सेवा कार्य करने का पीड़ा विद्यार्थी परिषद के कार्यकताओं ने उठाया है। इसमें विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग कार्यकर्ता प्रतिदिन सेवा कार्य कर रहे हैं। इसमें प्रतिदिन कार्यकर्ताओं का सहयोग मिल रहा है। इसमें प्रभान सिंह, मोहन झा, मयंक सिरोहिया, रूपेश प्रजापति, पुष्पेंद्र यादव सहित कई कार्यकर्ता सहभागी हैं।