जिला प्रशासन इंदौर – विशेष न्यूज बुलेटिन

Scn news india

मनोहर

  • कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कहा है कि इंदौर में लॉकडाउन और कर्फ्यू का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। प्रतिबंधात्मक आदेशों का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जा रही है। श्री मनीष सिंह ने बताया कि प्रतिबंध के दौरान अवांछनीय और आपराधिक गतिविधियां करने वालों के विरूद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्रवाई कर जेल भेजा जा रहा है। चंदन नगर में हुई घटना के चार आरोपियों को राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (रासुका) में निरूद्ध कर जबलपुर और सतना जेल भेजा गया है। इसी तरह इंदौर में अन्य उल्लंघनकर्ताओं को भी जेल भेजा जा रहा है। इसके लिये सांवेर रोड में श्री वैष्णव विद्यापीठ में अस्थाई जेल बनाई गई है।
  • श्री मनीष सिंह ने बताया कि इंदौर में कोरोना वायरस से प्रभावित क्षेत्रों में केंटोनमेंट एरिया घोषित कर एहतियात के रूप में अनेक प्रभावी कदम उठाये जा रहे हैं। इन क्षेत्रों में प्रतिबंध का पूर्ण पालन विशेष रूप से कराया जा रहा है। चिन्हित क्षेत्रों में घर-घर जाकर रहवासियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। घर-घर दल भेजे जा रहे हैं।
  •  कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कोविड 19 से संक्रमित 11 नए क्षेत्रों को एपिडेमिक डिजीज कोविड-19 रेगुलेशन के अंतर्गत कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया है। किसी क्षेत्र को कंटेनमेंट घोषित करने का उद्देश्य उसका सही सर्विलेंस करना है। नये कंटेनमेंट क्षेत्रों में मधुबन कॉलोनी, सुदामा नगर, सैफी नगर, जबरन कॉलोनी, रूप रामनगर, पैलेस कॉलोनी माणिकबाग, मरीमाता इंदौर, विनोबा नगर, ओम विहार पलहर नगर, लोधा पूरा जवाहर मार्ग एवं स्नेहलतागंज गुयरूब भवन शामिल हैं। प्रत्येक क्षेत्र के सर्विलेंस हेतु इंसिडेंट कमांडर, राजस्व अधिकारी, पुलिस अधिकारी एवं नगर निगम अधिकारी का दल गठित किया गया है।
  •  इंदौर शहर में लागू धारा-144 के अन्तर्गत जारी प्रतिबंधात्मक आदेश में ऑनलाइन शॉपिंग एजेंसी को घर-घर तथा फार्म हाउस तक पशु-पक्षियों, मछलियों आदि के पशु आहार तथा दवाईयों के प्रदाय में छूट संबंधी आदेश जारी किये गये हैं। इस संबंध में अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी द्वारा आदेश जारी कर दिया गया है। जारी आदेशानुसार चिन्हित एजेंसियां ऑनलाइन बुकिंग एवं फोन पर बुकिंग के आधार पर घर-घर उक्त सामग्री प्रदाय करेंगी तथा किसी भी एजेंसी को अपने कार्यालय एवं ऑफिस को पूर्ण खोलने की अनुमति नहीं होगी और न ही किसी भी रहवासी को उनके कार्यालय/ऑफिस पर मौजूद होना पाया जायेगा।
  •  कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने आज सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि यहां ड्रेनेज, पानी आदि मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति होने के बाद इसके उपयोग पर विचार किया जायेगा। यहाँ मूलभूत सुविधाओं की शीघ्र व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराई जायेगी।
  •  इंदौर में आवश्यकता के अनुसार कोरेंटाइन और आइसोलेशन सेंटर की व्यवस्था की गई है। जरूरत पड़ने पर इनकी संख्या और भी बढ़ाई जायेगी। श्री मनीष सिंह ने बताया कि इंदौर के गाँधी नगर में स्थित मॉडर्न डेंटल कॉलेज के उपयोग पर भी विचार किया जा रहा है। इस अस्पताल में छोटी-मोटी कमियों को दूर कर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये गये हैं।
  •  कलेक्टर श्री मनीष सिंह द्वारा बताया गया कि स्क्रीनिंग टीम लगातार संक्रमित क्षेत्रों में भेजी जा रही है। इन दलों को पर्याप्त संसाधन दिये गये हैं। संसाधनों की कोई कमी नहीं आने दी जायेगी।
  •  संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने बताया कि 6 अप्रैल की स्थिति में टोटल कोरेंटाइन 4073, होम कोरेंटाइन 878, संस्थागत कोरेंटाइन 780, आइसोलेशन 165 और होम कोरेंटाइन से डिस्चार्ज की संख्या 3195 थी। वहीं 7 अप्रैल की स्थिति में टोटल कोरेंटाइन 4089, होम कोरेंटाइन 762, संस्थागत कोरेंटाइन 868, आइसोलेशन 172 और होम कोरेंटाइन से डिस्चार्ज की संख्या 3327 थी।
  •  संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी के निर्देशन में कोरेंटाइन करने के लिये 30 से ज्यादा गार्डन और होटल का चयन किया गया है। आईडीए के सीईओ श्री विवेक श्रोत्रिय ने बताया कि लोग अपनी स्वैच्छा से अपने निजी गार्डन और होटल कोरेंटाइन के लिये उपलब्ध करा रहे हैं। कोरेंटाइन स्थल पर चाय-नाश्ता, भोजन दिया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन कराया जा रहा है।
  •  इंदौर में घर-घर अत्यावश्यक सामग्री पहुंचाने का सिलसिला जारी है। विगत तीन दिनों में 40 हजार से भी अधिक परिवारों को आवश्यक खाद्य सामग्री घर से ही खरीदने की सुविधा मिली है। इस व्यवस्था को और अधिक प्रभावी बनाया जा रहा है। नगर निगम आयुक्त श्री आशीष सिंह द्वारा बताया गया कि 479 किराना व्यापारियों के माध्यम से अतिआवश्यक सामग्रियां पहुंचाने की व्यवस्था की गई है।
  •   मध्यप्रदेश औद्योगिक विकास केंद्र इंदौर के समन्वय से इंदौर क्षेत्र में स्थित विभिन्न औद्योगिक इकाइयों ने वर्तमान कठिन समय में अपनी सामाजिक उत्तरदायित्व निभाने की पहल की है। एमपीआईडीसी के एमडी श्री कुमार पुरुषोत्तम ने विभिन्न औद्योगिक इकाइयों से इस संबंध में समन्वय किया है। औद्योगिक इकाईयों जैसे प्रमुख रूप से आईशर, माइलॉन, प्रतिभा सिंटेक्स, पार, अलकेम और ल्यूपिन आदि द्वारा पर्याप्त सहयोग उपलब्ध कराया जा रहा है। इनके द्वारा सहयोग राशि, भोजन के पैकेट, मास्क, पीपीई किट आदि उपलब्ध कराये जा रहे हैं।