पाबंदी के बाद भी मूंग की तैयारी के लिए किसानों ने सैकड़ों एकड़ खेत में लगाई आग

Scn news india

 

प्रवीण गौर 

होशंगाबाद जिला तहसील डोलरिया के अंतर्गत आने वाले कई ग्रामों में तवा परियोजना नहर आने से मूंग की तैयारी के लिए किसानों ने सैकड़ों एकड़ खेत में आग लगा दी।
जिसमें कहीं-कहीं गेहूं की फसल भी खड़ी है जिससे लोगों को भय नहीं है ।और अपनी मूंग बोने के चक्कर में आग लगा देते हैं जिससे नरवाई और मवेशियों के पालन पोषण करने के लिए भूसा भी बन पा रहा है ।
अगर भूसा नहीं बन पाएगा तो इस स्तिथी ने मवेशी भूखि की मर जाएगी प्रशासन से कहना है कि जो व्यक्ति अपनी खेत में आग लगा तत्काल उन पर उचित कार्यवाही की जाये।


कई ग्राम पंचायत के सरपंच सचिवों की बड़ी लापरवाही देखने को मिल रही है जिसमें कि चंदवाड ग्राम के कुछ किसानों की फसल अभी भी खड़ी है पर चंदवाड ग्राम पंचायत के अंतर्गत आने वाले कुछ ग्रामों में जानबूझकर आगी लगाई जा रही है
जिससे कि साइड के गांव भी प्रभावित हो रहे हैं अगर ऐसा चलता रहा तो मवेशियों के लिए भूसा नहीं बन पाएगा
वहीं ग्रामीण अजय लोवंशी ग्राम शैल के निवाशी है इनका कहना है आग की वजह से सारी नरवाई जल जाएगी और मवेशी भूख से तड़पते रहेंगे।

ग्रामीण अजय लौवंशी

वहीं आज ग्राम चंदवाड के अंतर्गत आने वाले ग्राम दहेडी के कुछ किसानों ने नरवाई जलने से रोक की और टैक्टर व ग्राम के सभी किसान ने एकत्र होकर आप को काबू में किया।