चोपना थाना द्वारा रविवार अवैध कोयला परिवहन करते पकड़ा ट्रैक्टर

Scn news india

प्रवीण मलैया ब्यूरों 

घोड़ाडोंगरी – लाख डाउन हो या आम समय, चुनाव हो या कोई प्रशासन की कार्यवाही, दिन हो या रात, कितने ही जिला कलेक्टर आए और चले गए, अधिकारी बदलते गए, सत्ता बदलती गई किंतु कोयला माफिया नहीं बदले। इन कोयला माफिया को किसी का डर नहीं।
घोड़ाडोंगरी के समीप दुल्हारा क्षेत्र में कोयला का अवैध उत्खनन कार्य हमेशा निरंतर चालू रहा है और आज भी है।
प्रशासन चाहे लाख कार्यवाही करें किन्तु कार्यवाही के तुरंत बाद से ही इनका अवैध कोयला उत्खनन का कार्य पुनः चालू हो जाता है घोड़ाडोंगरी शाहपुर चोपना समेत कई थानों में कई कोल माफियाओं के वाहन अभी भी जंग खा रहे हैं कार्यवाही पर कार्यवाही, सिर्फ अवैध उत्खनन कर रहे वाहनों पर हुई इसका नतीजा यह निकल कर आता रहा कि वाहन तो बदलते गए किंतु कोल माफिया वहीं के वहीं रहे। प्रशासन इन पर कार्यवाही कर लगाम लगाने की बात तो वर्षों से करता चला आ रहा है किंतु कर नहीं पाता यह प्रशासन की मजबूरी समझें या आलस्य।

निरंतर कई वर्षों से कोयला के अवैध उत्खनन कार्य से प्रतिमाह सरकार को करोड़ों रुपए की राजस्व की हानी तो हो ही रही है साथ में यह कोल माफिया निरंतर अपनी पकड़ मजबूत बनाए रखने में कामयाब रहे हैं।

अवैध कोयला उत्खनन कर बनाई करोड़ों की संपत्ति

दुलारा, घोड़ाडोंगरी, सारणी सहित कई क्षेत्रों के कोल माफियाओं द्वारा दुलारा से कोयले का अवैध उत्खनन और परिवहन कर लाखों करोड़ों रुपए कमा कर संपत्तियां बनाई जा चुकी है प्रशासन हमेशा इन पर नकेल कसने की बातें तो जरूर करता है किंतु इन कोल माफियाओं के बढ़ते रुतबे और पैसे को रोक नही पाया। ओर ना ही किसी ने आज तक सरकार के हुए राजस्व की हानि की भरपाई इनकी अवैध संपत्तियों से करने की ओर कार्यवाही की सोची हो।

अवैध उत्खनन करते हुए चोपना थाना ने जप्त किया ट्रैक्टर
चोपना थाना प्रभारी गोविंद राजपूत द्वारा बताया गया कि रविवार के दिन ग्राम गोलाई के पास कोयले का अवैध उत्खनन करते हुए एक ट्रैक्टर पाया गया जिस पर जब्ती की कार्रवाई करते हुए चोपना थाने मैं लाया गया है जिस पर भारतीय दंड संहिता की धारा चोरी करते हुए पाए जाने एवं अपराधिक कृत्य के लिए धारा 379,34 आईपीसी के तहत कार्रवाई सुनिश्चित की गई है वाहन किसका है यह अभी तक पता नहीं चल पाया है थाना प्रभारी अनुसार वाहन घोड़ाडोंगरी का बताया जा रहा है