पुलिस के जज़्बे को सलाम साधन ना मिलने पर भी 450 किलोमीटर पैदल चल थाने पहुँचा पुलिसकर्मी

Scn news india

राजगढ़

सर्व विदित है कि आज पूरा देश कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है इसकी भयावहता के चलते देश की सरकार ने सारे राज्यों में लॉक डाउन के आदेश दिए गए हैं ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके, राज्यों का पुलिस बल लगातार 24 घंटे जनता को इस हेतु आगाह कर रहा है और अपनी ड्यूटियों में संलग्न है, वहीं राजगढ़ जिले में पदस्थ एक पुलिसकर्मी ने अपनी ड्यूटी ज्वाइन करने के लिए जो साहस का कार्य किया है वह निश्चित रूप से एक मिसाल है।
थाना पचोर में पदस्थ आरक्षक दिग्विजय शर्मा दिनांक 16.03.20 को अपनी स्नातक परीक्षा हेतु छुट्टी पर अपने घर इटावा (उ प्र) गए थे, छुट्टी के दौरान लॉक डाउन होने से परीक्षायें स्थगित होने के कारण उन्हें ड्यूटी पर लौटना था, और आरक्षक दिग्विजय शर्मा कर्तव्यनिष्ठा के साथ इटावा (उत्तर प्रदेश) से थाना पचोर के लिए निकल पड़े।
जहां लॉक डाउन होने से उन्हें कइयों किलोमीटर तक पैदल चलना पड़ा तो कई बार लिफ़्ट भी मिली, लॉक डाउन के कारण रास्ते में कहीं भी भोजन आदि की व्यवस्था ना मिलने से दिग्विजय को भूखा ही रहना पड़ा परंतु दिग्विजय शर्मा ने हार नही मानी और दिनांक 28.03.20 को आखिरकार राजगढ़ पहुंचा। काफी किलोमीटर पैदल चलने के कारण दिग्विजय के पैरो में सूजन थी उसके बावजूद इतनी विपरीत परिस्तिथियों में भी अपनी कर्तव्य परायणता और अनुशासन प्रदर्शित कर पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी पर आ गया।
थाना प्रभारी पचोर श्री सुनील श्रीवास्तव के द्वारा सम्पूर्ण घटनाक्रम पुलिस अधीक्षक महो राजगढ़ श्री प्रदीप शर्मा को बताया जिन्होंने दिग्विजय शर्मा के कर्तव्य के प्रति समर्पण को अनुकरणीय बताया तथा दिग्विजय की भूरी भूरी प्रशंसा की थाना प्रभारी द्वारा दिग्विजय को समस्त स्टाफ़ के समक्ष सम्मानित किया गया !

ऐसे सभी पुलिसकर्मी जो इतने मुश्किल वक्त में भी अपना फर्ज निभा रहे हैं उनको हमारा सलाम