बड़ी चूक -महाराष्ट्र से बिना परिक्षण 62 मजदुर गाँव में घुसे

Scn news india

आशुतोष त्रिवेदी ब्यूरों एससीएन न्यूज इंडिया 

भैसदेही-कोथलकुण्ड में एससीएन न्यूज इंडिया के (ब्यूरों ) पत्रकार आशुतोष त्रिवेदी ने फिर एक बार जागरूकता का परिचय देते हुए ,महाराष्ट्र से जंगली रास्ते से होते  हुए छुप कर मध्यप्रदेश में अपने गाँव को  लौट रहे मजदूरों  को गाँव में घुसने से रोका  और उनके स्वास्थ्य परिक्षण हेतु तत्काल भैंसदेही अनुविभागीय अधिकारी राधेश्याम बघेल  को मोबाईल पर सुचना दी।  एवं ग्राम सचिव को बुला 62 लोगों की सूची प्रशासन को दी है। मामला अति संवेदनशील है। जब लॉक डाउन में लोगों को अपने घरों से निकलने की पाबंदी है तो इतनी बड़ी संख्या में मजदूरों का महाराष्ट्र की सीमा से प्रदेश की सीमा में प्रवेश करना प्रशासन की नाकेबंदी पर सवालिया निशान लगता है। ये मामला सरकार की तमाम कोशिशों पर पानी फेरने जैसा है।

गाँव के बाहर रोके गए मजदूरों ने जानकारी दी की वे मजदूरी करने  महाराष्ट्र के अमरावती जिले के  अन्तर्गत आने वाले बलगाव, टाकरखेड़ी में गए हुए थे। लॉक डाउन होने से वे किसी तरह पिकअप वाहन में बैठ अमरावती से परतवाड़ा पंहुचे और परतवाड़ा से जंगली रास्ते से पैदल ढाबा तक पंहुचे जहाँ से अपने गाँव के लोगों को संपर्क किया। जिसके बाद ग्रामीण मोटरबाइक ले कर उन्हें लेने जंगली रास्ते से ढाबा पंहुचे थे । जहाँ से उन्हें ले कर अपने  गाँव हरिमउ आ रहे थे।

बता दे की महाराष्ट्र में भी कोरोना का संक्रमण फैला हुआ है। वहीँ मध्यप्रदेश से बाहरी राज्यों में जाने वाले सभी रास्ते सील है। और एक साथ 62 लोगों का दूसरे राज्य से गाँव में आना कितना खतरनाक हो सकता है। जबकि इन्हे तत्काल क्वारेंटाइन कर  उनका कोरोना परीक्षण किया जाना चाहिए था। लेकिन प्रशासन ने कोई गंभीरता नहीं दिखाई ,दूसरा ये कानूनन अपराध भी है। लॉक डाउन का और धारा 144 का उलंघन है।