दुनावा कोरोना वायरस के चलते पुलिस किसानों पर भी बरसा रही लाठियां

Scn news india

आदर्श साहू दुनावा ब्यूरों एससीएन न्यूज 

कोरोना वायरस के संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामले चिंता का विषय है , लेकिन अच्छी खबर ये भी है लोग इसके प्रति जागरूक हो गए है। और लॉक डाउन में सहयोग कर रहे है। कुछ लोग है जो लॉक डाउन कानून का उलंघन करा रहे है , जो मानवता के लिए खतरा पैंदा करा सकते है , और संक्रमण की चैन तोड़ने की मुहीम का मजाक बना रहे है , ऐसे लोगों पर सख्ती बरतने के आदेश है। ताकि लोगों की जिंदगियों को बचाया जा सके। और होना भी चाहिए।

पुलिस को अधिकार दिए गए है। कि  वे एन केन प्रकारेन भीड़ जमा ना होने दे। और बेवजह कोई सड़क पर ना घूमे। लेकिन ये भी निर्देश है की कोई जरुरत का सामान लेने यदि घर से निकले तो बिना कारण जाने सख्ती ना बरती जाय।

पुलिस एक आदेश तो समझ रही है लेकिन दूसरा आदेश नहीं और बेवजह अन्य लोगों को भी अपराधियों की भांति पीट रही है। दुनावा में  किसान थोड़ी बहुत सब्जियां लेकर बेचने आया था। किन्तु पुलिस ने उसे ऐसे दौड़ाया पर पीटा मानों कोई अपराधी हो , साथ ही उसका सामान भी गाड़ी  में डाल कर ले गए। उसका गुनाह इतना है कि वो किसान है , अन्नदाता तो सिर्फ कहने को है। लेकिन खुद दो जून की रोटी के लिए संघर्ष करता है। सब्जी सड़ ना जाए इस चिंता में बेचने आता है और लाठियां खाता है। जबकि पुलिस उस किसान को समझाईश दे कर भी उसे जाने का कह सकती थी।

एससीएन न्यूज इण्डिया भी लोगों से अपील कराता  है  की लॉक डाउन का पालन करे घरों में रहे कोरोना को हराना है। और वो सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग से ही पॉसिबल है। भीड़ ना लगाए , बाज़ार सामान की खरीदी करने भी जाए तो मास्क लगाए , हाथो को सेनेटाइज करते रहे , साबुन से या हैड वाश से हर 20 मिनट में धोये। जरुरी ही तो ही घर से बाहर निकले।