अतिआवश्यक सेवाओं में सोशल डिस्टेंसिंग की अनदेखी , जरूरतमंदों पर लाठियां चटकाना सक्रियता का दिखावा

Scn news india

राकेश कु०यादव:~
बछवाडा़(बेगूसराय ):~
कोरोना इफेक्ट से बचने के लिए सरकार द्वारा घोषित सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की अपील की गयी है । मगर उन जगहों पर जहां अतिआवश्यक सेवाएं बहाल रखने की विशेष छुट दी गयी है,वहां एक-दूसरे लोगों के बीच एक मीटर की दुरी बनाए रखने की शर्तों का ख्याल नहीं रखा जा रहा है। पिछले तीन दिनों के भीतर अक्सर यह देखा गया है फल-सब्जी , राशन ,मेडिकल , बैंक आदि महत्वपूर्ण एवं अतिआवश्यक सेवाओं वाली जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग के तहत एक मीटर की दुरी बनाए रखने की शर्तों का उलंघन किया जा रहा है ।

हलांकि उपरोक्त सेवाओं को बहाल रखने में बगैर बाधा उत्पन्न किए प्रशासनिक पहल के बदौलत भी सोशल डिस्टेंसिंग को लागू कराया जा सकता है । मगर पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी सड़क पर चलने वाले जरूरतमंदों पर लाठियां चटका कर अपनी सक्रियता का दिखावा कर लेती है ।

मगर संक्रमित होने बचने के लिए मुख्य रूप सोशल डिस्टेंसिंग का अनदेखा किया जाना चिंता का विषय है । उक्त मामले को लेकर पुर्व विधायक अवधेश राय, समाजसेवी लालबहादुर यादव समेत अन्य गणमान्य लोगों नें सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अतिआवश्यक सेवाओं को बहाल रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के तहत एक मीटर की दुरी बनाए रखने हेतु प्रशासनिक पहल की मांग की है ।