सीसीए उड़नदस्ते ने जामगांव में की करवाई आमला में महेरबानी

Scn news india

दिलीप पाल ब्यूरों आमला
आमला. जहाँ एक ओर सीसीए उड़नदस्ते द्वारा आज जामगांव में बड़ी मात्रा में अवैध सागौन पकड़ बड़ी कार्यवाही करी है वही आमला वन परिक्षेत्र में परिक्षेत्र अधिकारी द्वारा नियम कायदों को ताक पर रख कार्य किया जा रहा है बीते 2 दिन पूर्व एक व्यक्ति के पास से बड़ी मात्रा में सागौन से बने फर्नीचर को जप्त किया था लेकिन दो दिन बीत जाने पर भी उक्त के खिलाफ कार्यवाही नही की जा सकी है बताया जाता है कि वन परिक्षेत्र अधिकारी द्वारा सांठगांठ कर आरोपी को बचाने का प्रयास किया जा रहा है उल्लेखनीय होगा कि दो दिन पूर्व वन विभाग द्वारा शिकायत पर सागौन के फर्नीचर का परिवहन करने वाले वाहन व फर्नीचर के मालिक को वन विभाग द्वारा परिसर में जांच हेतु लाया गया था जिसमें लकड़ियों से बने आधा दर्जन दीवान पलंग सेट व अन्य फर्नीचर थे वन विभाग में वाहन और फर्नीचर को अपनी अभिरक्षा में लेकर निरीक्षण और जांच करने के लिए 2 दिन लगा दिया सवाल यह उठता है कि 2 दिनों में जो जांच की गई वह जांच रात के अंधेरे में की गई जबकि रेंज ऑफिस में मीडिया कर्मियों के समक्ष फर्नीचर पकड़ाया था वन विभाग के अधिकारियों ने दूसरे ही दिन जांच पूर्ण करने का आश्वासन दिया था बावजूद इसके आज गुरुवार तक वन अधिकारियों द्वारा जांच पूर्ण नहीं की गई और मीडिया को भी संतोषजनक जवाब देने में अधिकारी आनाकानी कर रहे हैं संभवतः फर्नीचर मालिक को बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है सूत्रों की माने तो सफेदपोश नेताओं के दबाव में फर्नीचर मालिक को बचाया जा रहा है विभागीय सूत्र बताते हैं कि जॉर्ज को जानबूझकर देरी की जा रही है पंचनामा बनाया गया था पंचों ने भी आरोप लगाया है कि जो फर्नीचर मौके से पकड़ आया था प्रस्तुत करें बिल से अधिक था लेकिन जांच में बिल व फर्नीचर को एक मानकर फर्नीचर मालिक को बचाने का प्रयास किया जा रहा है शिकायतकर्ता दीपक कोकाटे ने बताया कि रात्रि में फर्नीचर परिवहन करने की शिकायत की गई थी वन अधिकारी ने आश्वासन दिया था तत्काल फर्नीचर की जांच कर कराई जाएगी लेकिन जांच को 2 दिन लेट किया किया गया है आशंका है कि वन अधिकारी द्वारा फर्नीचर मालिक को बताया जा रहा है जबकि अधिक मात्रा में था जांच सही नहीं की गई है उच्चाधिकारियों से जांच कराने की मांग की है