आदिवासियों ने रसाल परिवार के खिलाफ एकजुट होकर अपनी जमीन वापिसी का दिया आवेदन

Scn news india


नवील वर्मा ब्यूरों शाहपुर 

मंगलवार को शाहपुर तहसील मुख्यालय पर आदिवासी समाज ने सामूहिक रूप से ए’कत्रित होकर मुंशीलाल, गजराज सिंह एवं ब्रजलाल के साथ अनुविभागीय अधिकारी राजस्व की उपस्थिति में नायब तहसीलदार रोहित विश्वकर्मा को आवेदन दिया।
इटारसी शहर के फर्जी आदिवासी मामले में आर.टी.आई एक्टीविस्ट प्रमोद पगारे की शिकायत पर मंगलवार को फर्जी आदिवासियों को तहसील न्यायालय शाहपुर में तलव किया गया था पर फर्जी आदिवासी अनुपस्थिति रहें।
ग्राम रायपुर पोस्ट पाहवाड़ी के आदिवासी ब्रजलाल एवं डोडरा मौहर के आदिवासी गजराज एवं मुंशीलाल ने अनुविभागीय अधिकारी कुमार सानू देवड़िया ने बताया कि इटारसी के सोहन रसाल, अशोक रसाल ने उनके परिवार के नाम पर हम आदिवासियों की जमीन धोखाधड़ी करके वहला फुसलाकर लालच देकर जमीन की रजिस्टीªयां अपने नामों पर करा ली।
उन्होंने कहा कि हमंे बहुत विलंब से यह पता चला कि रसाल परिवार आदिवासी नहीं है और वह भू माफियां की तरह आदिवासियों की जमीन नकली आदिवासी बनकर खरीदते है एवं आदिवासियांे को धोखा देते है।
तीनों आदिवासियांे ने अनुविभागीय अधिकारी एवं नायब तहसीलदार से अनुरोध किया कि हमारी जमीनें भी राजस्व संहिता कानून के अनुसार हमको वापिस दिलाई जाए।
अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कुमार सानू देवड़िया एवं नायब तहसीलदार रोहित विश्वकर्मा ने आदिवासियांे को आश्वस्त किया कि प्रकरण उनके संज्ञान में है। जांच की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और वास्तविक स्थिति सामने आने पर न्याय मिलेगा।
इस अवसर पर शाहपुर क्षेत्र के आदिवासी नेता राजा धुर्वे, डोडरा मोहर की सरपंच श्रीमती भागवती तुमराम, आदिवासी युवा नेता आकाश कुशराम, सचिन मेहरा, राहुल प्रधान, रजनीश इवने, प्रफुल्ल कुमरे, उपस्थित थे।
…………………….