नैयर दमोही की ऊर्दू साहित्यिक संस्था के अध्यक्ष बनाये गये मंजर दमोही

Scn news india

इम्तियाज चिश्ती दमोह 

दमोहः जिले में ऊर्दू अदब के क्षेत्र में कार्य करने वाली साहित्यिक संस्था इदारे सलामी के अध्यक्ष शायर मंज़र दमोही बनाये गये। गौरतलब है की अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त शायर नैयर दमोही जी साहित्यिक संस्था अदबी इदारा ए सलामी बज़्म के  संस्थापक थे । उनके इस दुनियॉ से गुजर जाने के बाद संस्था के सद्र का पद रिक्त था जिसमें संस्था के संरक्षक नईम सुल्तानी भऊये की अध्यक्षता में एक अहम बैठक शायर डॉ अहसन के निवास पर संपन्न हुई  जिसमें सर्व सम्मति से इदारे सलामी बज़्म का अध्यक्ष शायर मंजर दमोही को चुना गया।उपाध्यक्ष के पद पर कबीर अख्तर दमोही ,सेकेट्री डॉ अहसन ,नायब सेकेट्री महमूद पापा और खजांची डॉ राशिद साहब को नियुक्त किया गया । इसके बाद महफ़िल का आयोजन हुआ नशिस्त में सभी शायरों ने नातिया कलाम पढ़ें । जिसमें डॉ राशिद ने पढ़ा कुरान से मिली हमें हुस्न वफ़ा की रौशनी। ईमान की तजल्लीयाँ सब्रो रज़ा की रौशनी ,डॉ अहसन  ने कहा रौनको ज़ीनत है राहतो रहमत है शहरे मदीना की गोद में जन्नत है ।
महमूद पापा ने कहा कल्बो जिगर को नूर का मरकज बना दिया ।आक़ा ने अपने हुस्न का जलवा दिखा दिया ।। शायर ताबिश नैयर ने पढ़ा है ये सूरत सुकूँ से जीने की ।बात करते रहो मदीने की । अख्तर दमोही ने पढ़ा जिसको हासिल नबी की उल्फत है ,उसकी दुनियॉ है उसकी जन्नत है । वहीं मंजर दमोही ने पढ़ा
है तस्कीन दिल इंतज़ारे  मदीना। निगाहों की जन्नत दायरे मदीना। कार्यक्रम में बज़्म के सेकेट्री डॉ अहसान ने सभी का आभार माना और नव नियुक्ति अध्यक्ष मंज़र साहब को  और उपाध्यक्ष अख्तर मुबारकबाद दी

Leave a Reply

Your email address will not be published.