नाव और नाविकों का पंजीयन कराना जरूरी

Scn news india

मनोहर

भोपाल-सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत संवेदनशील क्षेत्रों, चिन्हित तालाबों, छोटे-बड़े सरावरों पर बेहतर व्यवस्था और नाव तथा नाविकों के जीवन की रक्षा के लिए नाव और नाविकों का पंजीयन कराना सुनिश्चित किया जायेगा। कलेक्टर श्री तरूण पिथोड़े ने उक्ताशय के निर्देश आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में तालाब संरक्षण, आम आदमी की सुरक्षा और आपदा प्रबंधन की बैठक में अधिकारियों को दिए। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री सतीश कुमार एस, पुलिस,नगर निगम, होमगार्ड सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री पिथोड़े ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि हर बोट का अनिवार्यत: पंजीयन कराकर उसे आईडी प्रदान कर बोट पर बड़े-बड़े अक्षरों में अंकित किया जाए। बीएमसी द्वारा जानकारी दी गई कि अभी तक 500 से अधिक नावों का पंजीयन किया जा चुका है। पंजीकृत बोटो द्वारा सुरक्षा मापदण्डों का पालन कराया जाये जिससे किसी अनहोनी की दशा में यह ज्ञात हो सके कि कौन सा नाविक, कौन सी नाव पर सवार है और वह आपदा की ट्रेनिंग भी प्राप्त कर चुका है।

बैठक में श्री पिथोड़े ने पुलिस एवं नगर निगम के अधिकारियों को आपसी समन्वय से शीतलदास की बगिया जैसे संवेदनशील क्षेत्रों में सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से निगरानी करने और नगर निगम के गोताखोर और होमगार्ड के जवान भी तैनात करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आमजन के साथ नाविक भी लाईफ जैकेट पहनें यह भी अधिकारी सुनिश्चित करें। बोट के साथ साथ नाविकों का भी पंजीयन कर डाटाबेस तैयार करें। इस डाटाबेस का इस्तेमाल आपदा प्रबंधन एवं राहत कार्यों में किया जाये।
बैठक में कलेक्टर श्री पिथोड़े ने कहा कि मैनिट और आरजीपीवी जैसे उच्चस्तरीय संस्थानों के इंजीनियरों से बोट की क्षमता का तकनीकी सुरक्षा ऑडिट कराया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि नाव संचालकों, नाविकों और सहायकों को प्रतिदिन स्तर पर सुरक्षा मानकों पर आधारित साईन बोर्ड आमजन के लिए सुदृश्य स्थानों पर चिपकाये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.