विकलांग एवं वयोवृद्ध शिविर में लापरवाही का आलम , विकलांग, वृद्ध व बच्चे होते रहे परेशान, पन्नी में दिया खाना

Scn news india

नवील वर्मा  शाहपुर ब्यूरों
शाहपुर जनपद पंचायत प्रांगण में विकलांग एवं वयोवृद्ध शिविर का आयोजन  मजाक बन कर रह गया।  जहाँ नियमों को ताक पर रख कर्मचारी निशक्त व् वृद्धों का मजाक उड़ाते दिखे। वही शिविर में कर्मचारी गप्पे मारते रहे तो जिम्मेदार शिविर में दिखाई ही नहीं दिए। गरीब विकलांग बच्चे व् वृद्ध दिन भर परेशान होते रहे। और लंच करने गए कर्मचारी  अधिकारी शिविर छोड़ 1 बजे खाना खाने जो गए तो 3 बजे तक भी नहीं लौटे।

पॉलीथिन में दिया भोजन 

शिविर में पंहुचे हितग्राहियों को अमानक पॉलीथिन में पूड़ी व् सब्जी दी गई। बता दे की सरकार एक तरफ तो करोड़ों रूपये पालीथीन बंद करने के अभियान में लगा रही है , ताकि पर्यावरण को होने वाले नुकसान से बचाया जा सके , वही स्वास्थ्य विभाग खुद इस अभियान का मजाक उडाता दिखाई दिया।

शिविर के नाम पर दिखी खाना पूर्ति 

विकलांग एवं वयोवृद्ध शिविर का आयोजन पर्याप्त प्रचार प्रसार के आभाव में अपेक्षा कृत नहीं रहा। जितने लोगों को पंहुचना था वे नहीं पंहुच सके। लेकिन वही जो लोग शिविर में आस ले कर आये थे वे दिन भर परेशान होते रहे। उनके लिए नाही उचित पानी की व्यवस्था थी नाही भोजन की। उसके बाद भी केवल परिक्षण के आलावा कुछ नहीं मिला मिला तो केवल आश्वासन। 

शिविर  प्रति उदासीन रहा अमला  

केवल नाम के लिए आयोजन दिखाई दिया सुबह से ही  लोग शिविर में पंहुचे लेकिन अधिकारी कक्ष में नहीं मिले , तो वही अन्य कर्मचारियों का भी यही हाल रहा। 1 बजे लंच के लिए गए कर्मचारी 3 बजने के बाद तक नहीं लौटे जिससे निशक्तजनों को परेशानी का सामना करना पड़ा। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.