scn news indiaमंडला

दोनों हाथों से दिव्यांग आदिवासी छात्रा द्रौपदी ने मिसाल पेश की,पैरों से उकेरी सुंदर रंगोली -विश्व विकलांग दिवस पर आयोजन

Scn news india

साबिर खान की रिपोर्ट 

मंडला जिले के मवई ब्लॉक में विश्व दिव्यांग दिवस पर आयोजित दिव्यांग समर्थ प्रदर्शनी , खेलकूद एवं रंगोली प्रतियोगिताओ में बच्चों ने शारीरिक अक्षमता को चुनौती देते अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा लोगों को हैरत में डाल दिया  और साबित कर दिया की शारीरिक अक्षमता उनके हौसलों के आगे शून्य है। जिसमे दोनों हाथों से दिव्यांग आदिवासी छात्रा द्रौपदी ने नायाब मिसाल पेश कर दोनों हाथों से नासाज होने के बाद भी पैरों से सुंदर रंगोली उकेरी और उसमे रंग भी भरे।  जिसे देख सभी हैरत में पड़ गए।  ऐसे ही अन्य दिव्यांग बच्चों ने भी खेलों एवं अन्य प्रतियोगिता में अपने  हुनर का प्रदर्शन किया।

बता दे की ब्लॉक शिक्षा केंद्र मवई में दिव्यांग समर्थ प्रदर्शनी खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था ।  जिसमे लगभग 51 दिव्यांग बच्चो ने भाग लिया था ।

ब्लॉक शिक्षा केंद्र अधिकारी  राजेश महोबिया ने बताया की विकासखंड मवई में कलेक्टर सबमिशन संचालक समग्र शिक्षा अभियान जिला शिक्षा केंद्र मंडला के निर्देश तथा ऐ पी सी आई ई डी , श्री के के उपाध्याय के कुशल मार्गदर्शन  में विश्व दिव्यांग दिवस के  अवसर पर विकासखंड  स्तरीय दिव्यांग बच्चों का समर्थ प्रदर्शन खेल कूद प्रतियोगिता का आयोजन हाई स्कूल शाला धनगांव में किया गया। जिसमें मवाई ब्लॉक के सभी शालाओं से दिव्यांग बच्चे उपस्थित रहे।  दिव्यांग बच्चों ने अपना-अपना हुनर दिखाया। रंगोली, जलेबी दौड़, कुर्सी दौड़ आदि खेलों में भाग लेकर उत्कृष्ट प्रदर्शन किया।

जिसमें कुमारी द्रोपती धुर्वे कक्षा आठवीं हाई स्कूल भीम डोंगरी की  दोनों हाथ से विकलांग छात्रा ने  अपने पैर से रंगोली बनाते हुए अपनी कला का प्रदर्शन किया। प्रतियोगिता में मुख्य अतिथि बी आर सी श्री राजेश महोबिया ,बी एस सी श्री बसंत वारेसवा , श्री कमलेश धुर्वे जन शिक्षक एवं के डी पटैल , एम आई एस श्रीमति सुनीता मार्को और सभी शिक्षकों का सराहनीय योग दान रहा।