scn news indiaबैतूल

जैन स्थानक भवन में संपन्न हुआ ऐतिहासिक चातुर्मास -इन बच्चों का किया सम्मान

Scn news india

विशाल भौरासे की रिपोर्ट 

  • जैन स्थानक भवन में संपन्न हुआ ऐतिहासिक चातुर्मास
  • दीपावली पर पटाखा नहीं फोड़ने वाले बच्चों, प्रतिक्रमण सीखने वाले बच्चों का किया सम्मान

बैतूल। आचार्य सम्राट प.पू.जयमल जी के सुशिष्य पार्श्वचंद्र जी म.सा. की सुशिष्या मधुर व्याख्यानी, सरलमना डॉ.बिंदु प्रभाजी व हेमप्रभा जी म.सा. का ऐतिहासिक चातुर्मास जैन स्थानक भवन में संपन्न हुआ। चातुर्मास के समापन की पूर्व बेला में जैन समाज की संजुला गोठी और शर्मिला पारख के द्वारा विदाई गीत प्रस्तुत किया गया। इसके बाद दिलीप पगारिया, राजेश गोठी, अरुण गोठी, अलका तातेड, सरोज बोथरा, स्नेहलता सुराणा, धनराज पगारिया, राकेश सुराणा, अतुल पगारिया, मानसी तातेड, जयंतीलाल गोठी ने चातुर्मास में अपने-अपने अनुभव सुनाए। सभी के मन इस विदाई की बेला में भर गए। इस अवसर पर रानू लूनिया ने म.सा. के विदाई गीत प्रस्तुत किया। इसके बाद संस्था के सचिव मुकेश गोठी ने अपना उद्बोधन प्रस्तुत किया, जिसे सुनकर उपस्थित सभी श्रावक श्राविकाओं के नेत्रों से नयन धारा निकल पड़ी।

इस अवसर पर दीपावली पर पटाखा नहीं फोड़ने वाले बच्चों, प्रतिक्रमण सीखने वाले बच्चों का शीतल गुरु पाठशाला की तरफ से सम्मान किया गया। चातुर्मास की गतिविधियों में सक्रिय रूप से योगदान हेतु कल्पना गोठी अलका तातेड का व पांच माह चातुर्मास में रोज नवकार मंत्र के जाप करने पर लीला गोठी, शर्मिला पारख, साधना गोठी का सम्मान किया गया। अंत में म.सा चातुर्मास में धर्म का धर्म लाभ लेने पर सभी को साधुवाद देकर सभी को धर्म से हमेशा जुड़े रहने साधु साध्वियों के संग में हमेशा जुड़े रहने की प्रेरणा दी, सभी से खमत खामणा की। मंगलवार को म.सा. का विहार गोठी कॉलोनी की तरफ हो गया है। 29 तारीख को नवीन तातेड के घर पर व्याख्यान, 30 तारीख को शांतिलाल तातेड के घर व्याख्यान रहेगा। इसके बाद म.सा. का विहार राजस्थान की ओर होगा। चातुर्मास में विशेष रूप से सहयोग देने हेतु डॉ.एन आर साबले के पूरे परिवार, डॉ.जोहरी, डॉ.नितिन देशमुख, डॉ.वैद्य, कांतिलाल मेहता के पूरे परिवार ने बहुत-बहुत धन्यवाद दिया। कोषाध्यक्ष मुकेश सुराणा ने सभी दानदाता का आभार व्यक्त किया। उक्त जानकारी सतीश पारख ने दी। कार्यक्रम का संचालन विनय सुराणा ने किया।