सरकार की शुद्ध के खिलाफ युद्ध की मुहिम पर व्यापारी भारी,खाद्य निरीक्षक को सरेआम ट्रक से उतारा ,खबर छापने पर पत्रकारों को दी धमकी

Scn news india

 

एससीएन न्यूज डेस्क भोपाल 

प्रदेश में  कमलनाथ सरकार द्वारा  जनता के हित में चलाई गई विश्वसनीय व् कारगर  मुहिम पर मिलावट खोर भारी पड़ते दिखाई दे रहे है। जो चोरी तो चोरी ऊपर से सीना जोरी की कहावत को चरितार्थ करते मिलावटी खाद्य सामान से भरे ट्रक को दबंगाई से खाद्य अधिकारी के निरिक्षण के दौरान छुड़ा ले गए। सिस्टम के सामने  बेचारा खाद्य निरीक्षक असहाय, बेबस, लाचार , मजबूर नजर आया।

मामला पन्ना जिले के अजयगढ़ का है जहाँ सुचना पर खाद्य निरीक्षक टीम के साथ खाद्य सामान से भरे ट्रक में जांच के लिए पहुंचे थे।  इसी दौरान व्यापारियों ने ट्रक को घेर लिया और जबरन शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करते हुए निरीक्षक को ट्रक से नीचे उतार अभद्रता की। व्यापारियों की दबंगाई के सामने खाद्य निरीक्षक बेबस नजर आया। और व्यापारी गाडी छुड़ा कर ले गए।

बता दे कि  खाद्य विभाग को तेल में मिलावट की शिकायत मिली थी। बताया जा रहा है की क्षेत्र में धड़ल्ले से नकली तेल का व्यापार चल रहा है। और लोगों की जान से खिलवाड़ हो रहा है।  लेकिन प्रशासन की निष्क्रियता के चलते यह गोरखधंधा जोरों से फलफूल रहा है। इतना ही नहीं व्यापारियों के हौसले इस कदर बुलंद है की इस खबर के प्रकाशन के बाद अजयगढ़ के पत्रकारों की  फर्जी शिकायत कर उन्हें ब्लेकमेलर बताया जा रहा है। जिसकी जांच होनी चाहिए।

सवाल इस बात का है की यदि व्यापारी सही थे तो जांच से क्यों डरे। 

अधिकारियों का टूटेगा मनोबल 

जिला प्रशासन को संज्ञान ले कर उक्त मामले में जांच कर कारवाही करनी चाहिए अन्यथा सरकार के  शुद्ध के खिलाफ युद्ध पर सवालिया निशान तो लगेंगे ही और दूसरा ऐसे कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी कारवाही करने से भी हिचकेंगे। उनका मनोबल टूटेगा।

पत्रकारों के खिलाफ शिकायत 

रही बात पत्रकारों की तो ये कोई नई बात नहीं है। सच लिखने वालों पर झूठे आरोप लगा उन्हें ब्लेकमेलर कहना कोई नई बात नहीं है। पत्रकार बिना आधार व् सबूतों के खबर का प्रकाशन नहीं करते।

बिना कागज बिल्टी के था वाहन 

माल से लदे  ट्रक चालक के पास मौके पर कोई दस्तावेज नहीं थे। जब लोगों ने इस मामले में चालक से पूछा तो बगले झांकता नजर आया। जिससे आशंका जताई जा रही है की बड़े पैमाने  शासन प्रशासन की आँखों में धूल झोंक कर जीएसटी और टेक्स की चोरी की जा रही है। जो जाँच का विषय है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.