scn news indiaबैतूल

एकादशी का व्रत करने से कष्टों का अंत होता है-पंडित नरेंद्र दुबे

Scn news india
ब्यूरो रिपोर्ट
बैतूल। युवा साहू समाज सेवा संगठन के तत्वावधान में आज डोल ग्यारस, पदमा एकादशी, परिवर्तनी एकादशी के अवसर पर शिव मंदिर विनोबा नगर बैतूल में भगवान श्री कृष्ण के बाल रूप के पूजन अनुष्ठान समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पंडित नरेंद्र दुबे ने भगवान श्री कृष्ण के बाल रूप का पंचामृत एवं पंच नदियों के जल से अभिषेक अनुष्ठान एवं विधि विधान से पूजन कराया। इस अवसर पर पंडित नरेंद्र दुबे ने एकादशी व्रत की कथा सुनाते हुए कहा कि व्यक्ति ने जीवन में हमेशा एकादशी का व्रत पूजन एवं अनुष्ठान करना चाहिए ।एकादशी के व्रत पूजन से सुख समृद्धि व मान प्रतिष्ठा में वृद्धि होती है ।इस व्रत के करने से जीवन के सभी कष्टों का अंत होता है। पदमा एकादशी को परिवर्तनी एकादशी के रूप में भी मनाया जाता है इस एकादशी पर भगवान विष्णु करवट बदलते हैं इसलिए इस परिवर्तन एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। इस पूजन अनुष्ठान के अवसर पर गोपाल साहू, श्रीमती ममता साहू, श्रीमती कांति साहू, श्रीमती कंचन साहू, एवं मुख्य यजमान के रूप में श्रीमती सुनीता खंडेलवाल उपस्थित थे।