सिद्ध चक्र महामंडल विधान में चढ़ाए गए 128 अर्घ शहर में धूमधाम से निकली चक्रवर्ती भरत की दिग्विजय यात्रा

Scn news india



स्वामी सींग दमोह संभागीय ब्यूरों 

दमोह। श्री सिद्धचक्र महामंडल विधान का आयोजन जबलपुर नाका जैन मंदिर भक्ति भाव के साथ चल रहा है विधान के पांचवें दिन प्रातः बेला में श्रीजी के अभिषेक शांतिधारा के उपरांत विधान के 128 अर्घ्य चढ़ाए गए। वहीं दोपहर में भरत चक्रवर्ती की दिग्विजय यात्रा निकाली गई। जो नगर भृमण उपरांत विधान स्थल पर पहुंचकर संपन्न हुई। जबलपुर नाका जैन मन्दिर में चल रहे तथा महामंडल विधान के पांचवें दिन विधानाचार्य डॉ अभिषेक जैन एवं डॉ. आशीष जैन ने श्री जी का पूजन अभिषेक कराया।

प्रथम शांति धारा मुन्नालाल भेड़ा परिवार व दूसरी शांति धारा नीलम जैन परिवार को सौभाग्य मिला। इसके बाद मुनिश्री प्रबुद्ध सागर जी महाराज की दिव्य देशना संपन्न हुई। जिसमें मुनि श्री ने अष्ट द्रव्य से पुष्प चढ़ाने के फल के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला।

पांचवें दिन विधान के महा पात्रों के साथ श्रावक जनों ने 128 अर्घ समर्पित करके सिद्धों की उपासना की। दोपहर में जबलपुर नाका मन्दिर से भरत चक्रवर्ती की दिग्विजय यात्रा प्रारंभ हुई। जिसमें भरत चक्रवर्ती, सौधर्म इंद्र, कुबेर इन्द्र सहित 16 रथो पर महापात्र अपने परिवार के साथ सवार होकर नगर भ्रमण पर निकले। शोभायात्रा कोतवाली, घंटाघर, सिविल वार्ड से होते हुए विधान स्थल पर पहुंचकर संपन्न हुई इस दौरान बड़ी संख्या में पहला बच्चों सहित धर्म प्रेमी जनों की सहभागिता रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.