सारणी में बढ़ता जा रहा बंदरों का आतंक

Scn news india

ब्यूरो रिपोर्ट

औद्योगिक नगरी सारणी के रहवासी इन दिनों बंदरों के आतंक से बेहद परेशान है
स्टेट बैंक कॉलोनी निवासी सत्यदेव लोखंडे, वेलफेयर कॉलोनी निवासी दीनदयाल गुर्जर, ओल्ड एफ निवासी समाजसेवी अमित सोनी, व्यापारी रमेश ठाकरे एवं वरिष्ठ व्यापारी पप्पू मंसूरी ने बताया कि सारणी में दिन-ब-दिन बंदरों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है जिसके कारण नगर वासियों ने सुबह की सैर तक करना लगभग बंद कर दिया क्योंकि सुबह के समय ही बंदर सड़कों एवं आवासों पर घूमते रहते हैं राहगीर अक्सर अपने हाथों में डंडे लेकर निकलते हैं और जिनके हाथों में डंडे नहीं होते बंदर उन पर हमला करते हैं
बंदरों के बढ़ते आतंक के कारण बच्चों को दिन में अकेले आंगन में नहीं छोड़ा जाता कुछ दिनों पूर्व ही सारणी के सुपर एफ में एक महिला पर बंदरों ने हमला कर दिया जिसके कारण महिला को गंभीर चोट आई ऐसी घटनाएं आए दिन सामने आ रही है नगर के वरिष्ठ पत्रकार शेरू अग्रवाल ने बताया ने बताया कि सुबह के समय अखबारों को बांटते समय बंदरों के कारण बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और कई बार बंदर अखबार बांटने वाले वर्करों पर भी हमला कर चुके हैं
उन्होंने कहा की बंदरों के कारण नगर वासियों मे रोष बड़ रहा है क्योंकि उनके चुने हुए जनप्रतिनिधियों का इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं है लेकिन सारणी पाथाखेड़ा क्षेत्र में यह एक बड़ी समस्या है
नगर के वरिष्ठ नागरिक सोम लाल पाल, रवि सोनी और राजू रायपुरे ने बताया कि नगर की इस विकराल समस्या से निपटने के लिए नगरपालिका एवं फॉरेस्ट विभाग के साथ मिलकर संयुक्त रूप से प्रयास किया जाए तो समस्या से निजात पाया जा सकता है