scn news india

नपा अध्यक्ष एवं जिम्मेदार अधिकारियों के दावों की पोल खोलती तस्वीर-  स्वच्छता के नाम लाखों रुपये खर्च करने केबाद भी  चरम पर गंदगी

Scn news india

अनुराग मिश्रा जिला ब्यूरो 

  • नपा अध्यक्ष एवं जिम्मेदार अधिकारियों के दावों की पोल खोलती तस्वीर
  •  स्वच्छता के नाम लाखों रुपये खर्च करने केबाद भी  चरम पर गंदगी
  •  भाजपा पार्षद के वार्ड के हाल बेहाल
  •  कृष्णपुरा वार्ड में गंदगी का अंबार
बैतूल। केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार प्रदेश को स्वच्छ बनाने के लिए भरसक प्रयास कर रही है, स्वच्छता को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है,लेकिन बैतूल के नपा अमले की लापरवाही के चलते नगर पालिका क्षेत्र में गंदगी और प्रदुषण चरम पर है। साफ-सफाई को लेकर नगर पालिका के आला अधिकारी उदासीन है। नगर पालिका क्षेत्र अंतर्गत आने वाले कृष्णपुरा वार्ड में सफाई व्यवस्था के हाल बहुत ही बुरे हैं। नपा और भाजपा पार्षद के उदासीन रवैये को लेकर कृष्णपुरा वार्ड के लोगों में नाराजगी पनपने लगी है।
शहर के घनी आबादी वाला कृष्णपुरा वार्ड में बजबजातीं नालियां सफाई व्यवस्था की पोल खोलती नजर आ रहीं हैं। मोहल्लावासियों के मुताबिक नगर पालिका व प्रशासन की ओर से ज्यादातर कार्य सिर्फ कागजों पर ही किया जाता है। मूलभूत समस्याओं से यह वार्ड आज भी जूझ रहा है। दुर्दशा के कारण सुविधाओं के लिए लोग तरस रहे हैं। हालत है कि नालियां बजबजा रही हैं और ओवरफ्लो हैं। इससे लोगों के स्वास्थ्य पर खराब असर पड़ रहा है।
पानी निकासी के लिए सीवर का निर्माण न होने व साफ-सफाई न होने के कारण नालियां बजबजा रही हैं। इतना ही नहीं नाली का गंदा पानी लोगों के घरों में घुस गया है। आरोप है कि वार्ड के भाजपा पार्षद समस्या की ओर ध्यान देते नहीं और न ही सफाईकर्मी नजर आते हैं। इसकी शिकायत नगर पालिका परिषद से लेकर जिला प्रशासन तक की गई लेकिन आजतक कोई कार्रवाई नहीं की जा सकी।
— नपा सीएमओ से मिले वार्डवासी–
परेशान वार्ड वासियों ने शुक्रवार को मुख्य नगरपालिका अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर वार्ड में नवीन एवं गुणवत्ता युक्त नाली निर्माण करने की मांग की। वार्ड वासियों ने बताया कि पानी की निकासी नहीं होने के कारण नाली का मलबा और पानी नाली में ना बहकर नाली से उपर सड़क पर बहता है। नाली में जब भी पानी बढता है नाली ओवर फ्लो हो जाती है। मलबा कीचड पानी सड़क पर जमा होता है, पैरो में लग कर घर में आता है। नाली कभी भी ओवर फ्लो हो जाती है। नाली की सही तरीके से बनावट नही होने के कारण सफाईकर्मी को भी समस्या का सामना करना पडता है, गंदे पानी, कीचड और मलबे के कारण हमेशा बदबू और गंदगी का अंबार लगा रहता है। गंदा पानी और कीचड जमा होने के कारण कई बार आने जाने में भी समस्या का सामना करना पड़ता है। गंदगी से मच्छर मक्खी का भी प्रकोप बढ़ रहा है।
— वार्ड वासियों ने इन मांगों पर किया ध्यानाकर्षण–
नाली निर्माण रेवाशंकर चढोकार के घर से आरंभ होकर आयुर्वेदिक अस्पताल की बाउंड्री वॉल के अंतिम छोर तक किया जाए, नाली का साइज 2X3 ( 2 फीट चौडई, 3 फीट गहराई) का होना चाहिए। नाली निर्माण के पहले एक सर्वेक्षण टीम भेजी जाए ताकि वो वार्ड वासियों से बात करके नाली निर्माण उनके अनुसार कराए। नाली निर्माण में किसी भी प्रकार की भ्रष्टाचारी नहीं चलेगी। अति ध्यान विशेष मांग काम निरंतर चालू रहेगा तो भी पूर्ण गुणवत्ता के साथ नाली जब तक वार्ड वासियों के अनुसार नही बनेगी तबतक काम नही रुकेगा। कृष्णपुरा वार्ड से महावीर वार्ड की नाली जोड़ने के लिए बड़े पाईप की लाइन बिछाई जाए। शिकायत करने वालों में वार्डवासी दिनेश चांदसुरे, राजकुमार चांदसुरे, फाल्गुनी, तेजस्वी, विधिका, रेशम कुमार, खुशी, सुरेंद्र चांदसुरे, बुलबुल चांदसुरे, पवन प्रजापति, संतोष बारवे, शशि कोर, राजेंद्र बारस्कर, शेफाली, मनीषा, आशा, गीता बारस्कर, सुशीलाबाई, मंगल प्रजापति, जयंत, बलराम, राजा आदि शामिल है।