मुँह पर काली पट्टी ,गले में तख्तियाँ हाथ बांधकर जताया CAA ,NRC का विरोध,संविधान की रक्षा के लिये 22 महिलाओं ने रखा रोज़ा

Scn news india

दमोह से इम्तियाज़ चिश्ती

 

  • मुँह पर काली पट्टी ,गले में तख्तियाँ हाथ बांधकर  जताया CAA ,NRC का विरोध ।
  • संविधान की रक्षा के लिये 22 महिलाओं ने रखा रोज़ा।
  • दिन भर भूख और प्यास बर्दाश्त करके खुदा से माँगी दुआ।

दमोहः  ये आग कब बुझेगी नागरिकता संशोधन  कानून की आग अब फैल चुकी है सारे देश मे हर प्रान्तों शहरों से CAA, NRC के खिलाफ आवाज़ लगातार उठ रही है विरोध प्रदर्शनों का भी दौर जारी है लेकिन अब हालात दिन व दिन बिगड़ते जा रहे है विरोध की सीमाएं इस हद तक पहुँच चुकी है कि पर्दानशीन औरतों के सड़कों पर आना और अब प्रदर्शनकारी अपनी माँगो को मनवाने सरकार से तो गुहार लगा ही रहे है अब ये फांका करके भी विरोध पर उतर आए दमोह में बीते सप्ताह भर से  नागतिकता कानून का विरोध जारी है  मुस्लिम महिलाओं के अलावा पुरुष वर्ग भी विरोध प्रदर्शन करता चला आ रहा है ।

अब प्रदर्शनकारी  मुस्लिम  महिलाएं धरना स्थल मुर्शिद बाबा मैदान में अपने मुँह पर काली पट्टी बांधकर गले मे NRC,CAA  विरोधी स्लोगन लिखी तख्तियाँ डालें और हाथ बाँधे प्रदर्शन करते देखी गई ।तो वही 22 महिलाएं और लड़कियों ने  रोज़ा रखकर  भी अपना विरोध जताया ।और खुदा से दुआ की  CAA, NRC, से निजात मिल जाये । इसके लिए बाकायदा मुस्लिम महिलाओं ने दिन भर भूख और प्यास बर्दाश्त कर रोज़ा रखा और खुदा से दुआ की संविधान बचाने की मुर्शिद बाबा मैदान में प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में महिलाएँ इकठ्ठा होतीं है और केन्द्र सरकार द्वारा लाये गये CAA, NRC का खुलकर विरोध करते हुए नारे बाज़ी करती है ताकि उनकी आवाज़ सरकार तक पहुँचे ।यह जानकारी इम्तियाज़ चिश्ती ने एक विज्ञप्ति के माध्यम से दी ।

विरोध प्रदर्शन को मिला अन्य संगठनों का समर्थन। 

दमोहः मुर्शिद बाबा मैदान में चल रहे लगातार धरना प्रदर्शन में अब अन्य संगठनों के लोगों ने भी समर्थन दे दिया  भीम आर्मी के कोमल अहिरवार एवं उनके साथियों के अलावा , साहित्यिक व सामाजिक  संस्थाओं से जुड़ी  सुसंस्कृति परिहार,  साहित्यकार पंडित केशु तिवारी, नंद लाल सिंह परिहार, नितिन अग्रवाल, मानव बजाज, सहित अनेक  लोग पंडाल में पहुँचककर अपना समर्थन दे रहे है और महिलाओं द्वारा लगातार चलाये जा रहे आंदोलन की तारीफ करते हुए उनकी हौसलाअफजाई की ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.