पूरा बैतूल करेगा मेजबानी, हर जरूरतमंद श्रध्दालू को मिलेगा भोजन-पानी

Scn news india
 बैतूल के कोसमी में आगामी 12 से 18 दिसंबर तक होना है पंडित प्रदीप मिश्रा की शिवपुराण कथा
बैतूल। मां ताप्ती शिवपुराण कथा समिति के तत्वावधान में आगामी 12 से 18 दिसंबर तक बैतूल में विख्यात कथा वाचक पंडित प्रदीप मिश्रा की शिव महापुराण कथा होना है। इस कथा को सुनने के लिए बाहर से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु आएंगे। उनके भोजन की व्यवस्था के लिए ग्रामीण आगे आ रहे हैं। अभी तक दो गांवों से ऐसी सराहनीय पहल की जा चुकी हैं। वहीं अन्य गांवों में भी इस बारे में योजना बन रही है।
कोसमी में होने वाली इस कथा को सुनने के लिए बैतूल के अलावा अन्य जिलों और महाराष्ट्र प्रांत से भी बड़ी संख्या में लोग आएंगे। बाहर से आने वाले यह श्रद्धालु कथा स्थल पर ही पूरे समय रहते हैं। ऐसे में इन्हें नाश्ता-भोजन उपलब्ध कराने के लिए आयोजन समिति जनसहयोग से प्रयास कर रही है। समिति को इस कार्य के लिए बेहद सहयोग भी प्राप्त हो रहा है। विभिन्न संगठनों और सेवाभावी लोगों द्वारा ईंधन से लेकर भोजन सामग्री मुहैया कराने का आश्वासन देने के साथ ही उपलब्ध कराना भी शुरू कर दिया गया है। वहीं इस बारे में जानकारी मिलने पर अब ग्रामीण क्षेत्रों से भी बड़ी उदारता और अपनत्व के साथ सहयोग किया जा रहा है।
भोजन व्यवस्था प्रभारी जितेंद्र कपूर बताते हैं कि ग्राम मिलानपुर के ग्रामवासियों ने एक बड़ा निर्णय लिया है। उन्होंने तय किया है कि वे खुद ही भोजन सामग्री आपस में एकत्रित करेंगे। उसे लाकर कथा स्थल पर खुद ही बनाएंगे और फिर स्वयं ही मेहमान श्रद्धालुओं को खिलाएंगे भी। कुछ इसी तरह की पहल ग्राम बघोली में भी की गई है। वहां सरपंच वर्षा कपिल डांगे और ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि वे एक दिन के भंडारे का आयोजन करेंगे। इसमें सब्जी और पूड़ी स्वयं ग्रामवासी बनाएंगे। आटा, सब्जी, भंडारा बनाने की सामग्री और बर्तन भी लेकर खुद आएंगे। इसी तरह की योजना अन्य ग्रामों में भी बन रही है।
अभी तक इनसे मिला सहयोग
उल्लेखनीय है कि समाजसेवी अरुण गोठी भोजन व्यवस्था के लिए एक ट्रक लकड़ी पहुंचा चुके हैं। इसके अलावा जरूरत पड़ने पर और भी लकड़ी देने का आश्वासन दे चुके हैं। इसी तरह जिला किराना एवं जनरल व्यापारी संघ के बंटी मोटवानी और टीम ने आश्वासन दिया है कि वे किराना सामग्री उपलब्ध कराएंगे। इसी तरह कई दानदाता सहयोग को आगे आ चुके हैं।
केवल सामग्री के रूप में लेंगे सहयोग
श्री कपूर ने बताया कि इनके अलावा भी यदि कोई सहयोग करने के इच्छुक हो तो उनका स्वागत है। साथ ही सहयोग केवल सामग्री के रूप में ही स्वीकार किया जाएगा। कथा स्थल पर गोदाम बनाया जा रहा है। वहां आकर इच्छुक दानदाता सामग्री के रूप में सहयोग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह उदारता के साथ लोगों का इस पुण्य कार्य में सहयोग प्राप्त हो रहा है, उससे यह एक बार फिर सिद्ध हो गया है कि बैतूल वाकई बड़े दिल वालों का है।