मेरा ध्येय किसी कि धार्मिक भावना को ठेस पहुँचाना नहीं है – महंत पूज्य गुरुदेव महराज जी

Scn news india

दिवाकर पांडेय 

मैहर बड़ा अखाडा मे हो रहे श्री राम विवाह महोत्सव मे सेंकी जा रही राजनितिक रोटियां

दरअसल यह इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि इस बात की पुष्टि कार्यक्रम का आमंत्रण-पत्र व अखाडा के महंत पूज्य गुरुदेव महराज जी स्वयं प्रेस वार्ता में बया कर रहे है। सूत्रों की माने तो इस भब्य आयोजन मे मैहर व्यापारी कल्याण संघ के सभी सदस्य, बाजार के ज्यादातर दुकानदार,अखाड़े से जुड़े हर यजमान, सीमेंट उद्योगों, राज नेताओं सभी से अनुदान लिया गया है। इसके बाबजूद किसी एक ही को पूरा श्रेय देना ये कैसा धार्मिक आयोजन?? यह एक विशुद्ध धार्मिक आयोजन है और बड़ा अखाडा किसी के नाम का मोहताज नहीं है क्यों कि यह वही बड़ा अखाडा गादी है जो अयोध्या के श्रीराम मंदिर का भी निर्णायक संरक्षण है । फिर पूज्य महराज जी किस दबाब मे आ कर कैसी बयानवाजी कर दिए जोकी समझ से परे है।

वही बात करें निमंत्रण पत्र कि तो संतो कि भी फोटो लगा सम्मान देने मे राजनीती खेली जा रही हो तो मैहर के प्रथम नागरिक कि फोटो को कैसे जगह मिल सकती है। वही इतने बड़े आयोजन तो हो रहा है लेकिन सिर्फ चहेते पत्रकारों के अलवा सार्वजनिक सूचना देना भी मुनासिब नहीं समझा गया। बड़ा सवाल उठता है कि ज़ब कार्यक्रम का आयोजन जन सहयोग से किया जा रहा है तो कुछ ही चुनिंदा लोगो को श्रेय क्यों दिया जा रहा है ? ज़ब कार्यक्रम व्यक्तिगत खर्चे पर नहीं है तो इस धार्मिक आयोजन को चुनावी पोस्टर बैनर कि तरह क्यों प्रमोट किया जा रहा है?? बड़ा अखाडा व पूज्य गुरु देव जी से हर किसी कि धार्मिक भावना जुडी है तो उसे केवल भाजपा मय क्यों प्रदर्शित किया जा रहा है?? विद्वानों कि माने तो धार्मिक कार्यक्रम को ज़ब भी राजनैतिक माहौल देकर प्रदर्शित किया जाता है तब-तब धर्म संकट मे आता है।

निवेदन है पाठकों से मेरा उद्देश्य किसी कि धार्मिक भावना को ठेस पहुंचना नहीं है। बड़े अखाड़े से सभी राजनैतिक पार्टियों के जन प्रतिनिधि जुड़े है ।पूज्य महराज जी पर सब कि आस्था जुडी है। लेकिन जिस प्रकार से श्री राम जी के इस भव्य आयोजन का प्रारूप दिया जा रहा, उससे कई धर्म अनुयाईयों कि भावना को ठेस लग रही है। जिससे भविष्य मे सरकार बदलने पर विरोधभास कि स्थिति उत्पनहो सकती है। क्या इस बात का कोई जिम्मा लेगा???