लिव इन रिलेशनशीप अब डराने लगा अभिभावकों को – एक पिता ने लगाईं एसपी से गुहार -पुलिसकर्मी पर आरोप

Scn news india

ब्यूरो रिपोर्ट सारनी 

बैतूल- वैसे तो “दिल तो पागल है” “प्यार अँधा होता है ” “दिल लगा गधी से तो परी किस काम की” ऐसी ना जाने कितनी टैग लाइने प्रचलित है। और कई प्रेमी जोड़े जिन्होंने परिवार से बगावत करके अपना आशियाना बसाया भी। और सफल भी हुए। लेकिन अधिकांश लव मैरिज मामलो में अंत दुःखद ही रहा है। हालांकि अरेंज मरीज में भी ऐसे कई अपवाद है। जहाँ तलाक तक की भी नौबत आई है।

किन्तु बदलते परिवेश में बिना शादी के साथ रहने के मामले “लिव इन रिलेशन शीप” अब समाज में हावी होता जा रहा है। कुछ मज़बूरी में तो कुछ बगावत में। जिसे न्यायालय भी गलत नहीं मानता।

किन्तु जब इन रिश्तों में कड़वाहट घुलने लगती है तो अंजाम भयानक सामने आता है। जिसका उदहारण  हाल में घटी दिल्ली की  चर्चित घटना है। जिसमे लिव इन रिलेशन में रह रही एक बेटी के उसी युवक ने कई टुकड़े कर दिए, जिससे युवती बेहद प्यार करती थी और उसकी खातिर माता पिता से बगावत कर ली । इस घटना ने पुरे देश को हिल्ला दिया है। तो वही अब उन माता पिता के माथे पर शिकन बढ़ा दी है।  जिनकी बेटियां इस तरह के माहौल में यानी लिव इन रिलेशन में रह रही है।

ऐसे ही एक बेटी के असहाय पिता ने बैतूल पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद से अब गुहार लगाई है। आरोप है की उन्ही के विभाग में कार्यरत कर्मचारी ने उनकी बेटी को साथ रखा है। या यो कहे बिना विवाह दोनों लिव इन रिलेशन में रह रहे है। जिनकी जल्द शादी कराई जाए। या पुलिसकर्मी पर बिना विवाह के एक युवती को साथ रहने को मजबूर करने के लिए कारवाही की जाए।

बता दे की इस मामले की शुरुआत 25 अगस्त से हुए पीड़ित पिता विजय विश्वकर्मा ने एससीएन न्यूज इंडिया को बताया की 25 अगस्त को उनकी बेटी लापता हो गई थी। जिसकी सुचना उन्होंने तत्काल थाना सारनी में दी थी। लेकिन  एक माह बाद भी पुलिस ने कोई कारवाही नहीं की। अपने सोर्स से पता लगाने पर उन्हें ज्ञात हुआ की कोई आकाश उइके पुलिस कर्मी उसे भगा ले गया है। जिसकी शिकायत उन्हके द्वारा पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद से लिखित की गई। पुलिस अधीक्षक द्वारा दोनों को तलब कराया गया। उस दिन मेरा सामना बेटी से हुआ।

लेकिन उसने दबाव में उसी के साथ रहना स्वीकार किया। चूँकि दोनों बालिग़ है। इस लिए पुलिस अधीक्षक ने दोनों की  जल्द शादी कराने का आश्वासन दिया। हमने भी बेटी की ख़ुशी की खातिर ये फैसला मंजूर कर लिया। किन्तु दो माह होते आये है। ना ही बेटी की कोई खबर मिलती ही ना ही शादी की।  ऐसे में अब पीड़ित पिता ने फिर पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाई है कि दिल्ली की घटना से पूरा परिवार डरा हुआ है। जल्द ही बेटी की शादी आकाश से कराई जाए। या फिर कारवाही की जाए।

इस मामले में हमारी चर्चा आकाश उइके से भी मोबाईल फोन पर हुए उन्होंने कहा कि कल ही वे नंदनी विश्वकर्मा से हिन्दू रीतिरिवाज के साथ मदिर में विवाह करने जा रहे है।