उत्तरी हवाओं ने पकड़ी रफ्तार, लुढ़केगा दिन-रात का पारा, सिहरन बढ़ेगी

Scn news india
MP Weather Update: मौसम विज्ञानियों के मुताबिक दो दिन से हवा की रफ्तार मंद रहने के कारण न्यूनतम तापमान में विशेष परिवर्तन नहीं हो रहा था। अब हवा की रफ्तार बढ़ गई है। इसके चलते राजधानी सहित पूरे मध्य प्रदेश के जिलों में सिहरन बढ़ने की संभावना है।
 भोपाल । वर्तमान में मध्य प्रदेश के मौसम को प्रभावित करने वाली कोई मौसम प्रणाली सक्रिय नहीं है। हवाओं का रुख भी उत्तरी बना हुआ है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक दो दिन से हवा की रफ्तार मंद रहने के कारण न्यूनतम तापमान में विशेष परिवर्तन नहीं हो रहा था। अब हवा की रफ्तार बढ़ गई है। इसके चलते राजधानी सहित पूरे मध्य प्रदेश के जिलों में सिहरन महसूस होने लगी है। उधर गुरुवार को राजधानी का तापमान 14 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मध्य प्रदेश में सबसे कम 10 डिग्री सेल्सियस तापमान मलाजखंड में रिकार्ड किया गया। हिल स्टेशन पचमढ़ी में न्यूनतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक उत्तर भारत के पहाड़ों में न्यूनतम तापमान काफी गिरने लगे हैं। वहां से आ रही उत्तरी हवाओं के कारण मध्य प्रदेश में सर्दी बढ़ने लगी है। गुरुवार को ग्वालियर, चंबल संभागों के जिलों में रात के तापमान में गिरावट दर्ज की गई। भोपाल, इंदौर संभागों के जिलों में न्यूनतम तापमान में विशेष परिवर्तन नहीं हुआ, जबकि नर्मदापुरम, जबलपुर संभागों के जिलों में रात के तापमान में कुछ बढ़ोतरी दर्ज की गई। गुरुवार को राजधानी का न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य रहा। यह बुधवार के न्यूनतम तापमान 13.8 डिग्री सेल्सियस की तुलना में 0.2 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। बुधवार को शहर का अधिकतम तापमान 30.9 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया था, जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक रहा था। साथ ही मंगलवार के अधिकतम तापमान 30.3 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले 0.6 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा था।
दो दिन से हवाओं का रुख तो उत्तरी था, लेकिन हवाओं की रफ्तार काफी मंद थी। इस वजह से न्यूनतम तापमान में विशेष गिरावट नहीं हो रही थी। गुरुवार से हवा की रफ्तार कुछ बढ़ने लगी है। जिसके चलते अब दिन और रात के तापमान में गिरावट होगी।