जादू टोना और जमीनी विवाद में युवक की चाकू घोंप कर कर दी हत्या

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो 
अंधविश्वास लोगों ने जमीनी विवाद और जादू टोने के शक में दो हमलावरों ने एक किशोर पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया था। बेहद गंभीर हालत में किशोर को भीमपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उसकी मौत हो गई। घटना के बाद आज पुलिस अधिकारियों ने घटना स्थल पहुंचकर निरीक्षण किया और ग्रामीणों से पूछताछ भी की है। यह घटना जिला मुख्यालय से करीब 50 किमी. दूर चिचोली थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम बरीढाना में गुरुवार रात्रि में घटित हुई है। एसपी सिमाला प्रसादने बताया कि इस घटनामें पुलिस ने एक आरोपी को रामू पिता रीगा नर्रे को हिरासत में लिया है जबकि दूसरे की तलाश जारी है। पुलिस हिरासत में लिए गए आरोपी से पूछताछ कर रही है।
भीमपुर अस्पताल में हुई मौत
चिचोली थाना क्षेत्र के भीमपुर इलाके के अंतर्गत आने वाले बारीढाना गांव में गुरुवार की रात दीपक पिता फत्तू नारे (16) को गांव के ही दो लोगों ने खेत में चाकू से गोदकर उसकी घायल कर दिया था। घटना की जानकारी मिलते ही एम्बुलेंस 108 घटना स्थल पर पहुंची और घायल को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भीमपुर लाया गया। दीपक के पेट पर चाकू से किए गए वार से उसकी अतड़ियां निकल गई थीं। इलाज के दौरान किशोर की मौत हो गई।घटना स्थल पर पहुंची एसपी, एसडीओपी
घटना की जानकारी मिलने पर एसपी सिमाला प्रसाद, एसडीओपी पल्लवी गौर सहित पुलिस बल आज सुबह घटना स्थल पर पहुंचा और घटना की बारीकी से जांच की गई। इसके साथ ही ग्रामीणों से पूछताछ भी की। एसडीओपी पल्लवी गौर ने बताया कि प्रथम दृष्टया हत्या का कारण जमीनी विवाद बताया गया था। गांव में जब पूछताछ की गई तो जादू टोने की भी बात सामने आई है। पुलिस घटना की जांच कर रही है और आरोपियों की तलाश में जुट गई है। एसपी ने बताया कि हिरासत में लिए गए आरोपी राम पिता रीगा नारे ने पूछताछ में बताया कि उसके पिता की गुरुवार सुबह ही मौत हो गई जिससे उसे शक था कि फत्तू ने जादू टोना किया है जिससे उसकी मौत हुई है
पिता को मारने आए थे आरोपी
दीपक पिता फत्तू नारे की हत्या के मामले में ग्रामीणों ने बताया कि खेत की रखवाली करने के लिए प्रतिदिन फत्तू नारे खेत पर ही सोता था। कल किन्हीं कारणों से वह खेत पर नहीं गया और उसकी जगह उसका बेटा दीपक खेत पर गया था और खेत में बने झोपड़े में सो रहा था। सोते समय ही हमलावरों ने उस पर हमला कर दिया। इससे ग्रामीणों ने आशंका जताई है कि हमलावर दीपक के पिता फत्तू को मारना चाहते थे लेकिन अंधेरे में उसकी जगह उसके बेटे को मार दिया