प्यार में वहशियानापन की हदे पार -35 टुकड़ों में बदल दिया दरिन्दे ने

Scn news india

एक बार फिर प्यार में वहशियानापन की हदे पार करने वाले हत्याकांड ने देश  को हिला दिया है। प्यार में पागल श्रेया ने सोचा भी ना था होगा की जिसकी खातिर मोहब्बत में अपनों को ठुकरा उसके प्रेम पाश में बंधी दौड़ी चली आई वही एक दिन उसके शरीर को टुकड़ों में बदल देगा। श्रद्धा मलाड़, मुंबई में रहती थी और आफताब भी मुंबई का रहने वाला है। दोनों की बोंबल डेटिंग एप के जरिए दोस्ती हुई थी। श्रद्धा की पहली मुलाकात आफताब से मुंबई के एक कॉल सेंटर में हुई थी जहां दोनों साथ काम करते थे। उन्हें एक-दूसरे से प्यार हो गया। श्रद्धा के परिवार को आफताब के साथ उसके रिश्ते को मंजूर नहीं था और इसलिए दोनों भाग गए और दिल्ला आ गए। इसके बाद वे साथ रहने लगे।   कुछ समय बाद ही इनमें झगड़ा होने लगा।  ये एक-दूसरे पर संदेह करते थे। इस कारण इनमें झगड़ा होता रहता था। जिसकी वजह से आपसी दूरियों को कम करने ये दोनों दिल्ली चले आये और  महरौली में लिव इन रिलेशन शीप में रहने लगे। और यही उसने श्रेया की हत्या कर दी। और शव के टुकड़े कर फ्रीज में छुपा दिए। जिसके बाद उन्हें ठिकाने लगता रहा।

इस बीच आफताब शक से बचने के लिए श्रद्धा के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर भी एक्टिव रहा। पूनावाला श्रद्धा के सोशल मीडिया अकांउट का यूज करता था यही नहीं उसने 9 जून तक उसके दोस्तों के साथ चैट भी की थी ताकि किसी को शक न हो। उसके बाद वो काफी समय तक ऑनलाइन नहीं आई तो उसके दोस्तों ने उसके परिवार के सदस्यों को सूचित किया। जिसके बाद परिवार वालों ने पुलिस से संपर्क किया।

पुलिस ने  पूरी साजिश का पर्दाफाश किया जा सके। पुलिस को सोमवार शाम तक शव के 35 टुकड़ों में से करीब 13 मिल गए हैं। सभी टुकड़े हड्डियों में रूप में मिल रहे हैं। आफताब पुलिस को ये कहकर गुमराह करता रहा कि झगड़ा होने के बाद श्रद्धा छोड़कर चली गई है। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया। आफताब को किसी तरह का पछतावा नहीं है। आरोपी युवक का कहना है कि दोनों एक-दूसरे पर संदेह करते थे। उसे शव को ठिकाने लगाने का आइडिया विदेशी क्राइम सीरियल डेक्सटर से आया था।