ध्वज स्थापना के साथ ही कथास्थल का भूमिपूजन – 12 से 18 दिसंबर तक होगी पं प्रदीप मिश्रा की मां ताप्ती शिवपुराण कथा

Scn news india
राजेश साबले जिला ब्यूरो 
  •  12 से 18 दिसंबर तक होगी पं प्रदीप मिश्रा की मां ताप्ती शिवपुराण कथा
  •  भारी संख्या में शिवभक्त सेवा के लिए जुटे कार्यक्रम में
बैतूल। विख्यात कथावाचक पं प्रदीप मिश्रा की आगामी माह में होने वाली कथा के लिए कथास्थल का भूमिपूजन और ध्वजस्थापना का कार्यक्रम आज सोमवार को विधि-विधान से संपन्न हुआ। इसमें सैंकडों शिवभक्तों ने सेवा के लिए अपनी आहूति देने का संकल्प लिया।
गौरतलब है कि मां ताप्ती शिवपुराण समिति के तत्वावधान में आगामी 12 दिसंबर से 18 दिसंबर तक शिवपुराण कथा का आयोजन पं प्रदीप मिश्र के मुखारबिंद से होगा। इस विशाल आयोजन के लिए कथास्थल का चयन बालाजीपुरम रोड पर स्थित ब्रह्माकुमारी आश्रम के पास किलेदार गार्डन का किया गया है। सोमवार सुबह ठीक 10.30 बजे कथा के मुख्य आयोजक व्दय किलेदार परिवार और बाथरे परिवार ने पूजन पाठ संपन्न कराया। पं संजय व्यास के मंत्रोच्चार के बीच गौरी-गणेश का पूजन,ध्वज पूजन हुआ। इसमें प्रमुख रूप से कथा का समय लेने वाली बाथरे परिवार की बुजुर्ग श्रीमती कौशल्या बघेल उपस्थित थीं तो किलेदार परिवार के प्रमुख राजा ठाकुर भी थे। भूमिपूजन के बाद ध्वज को फहराया गया।
पूजन-अर्चन के बाद सैंकडों की संख्या में उपस्थित शिवभक्तों के समक्ष मां ताप्ती शिवपुराण समिति के प्रमुख संयोजक राजा ठाकुर ने पूरे कार्यक्रम की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया की कथास्थल के लिए जहां करीब 16 एकड़ जगह आरक्षित की गई है वहीं पार्किंग के लिए 35 एकड़ जगह विभिन्न स्थानों पर आरक्षित की गई है। श्री ठाकुर ने कहा कि यह आयोजन किसी परिवार विशेष का नहीं बल्कि पूरे बैतूल का है। आयोजनकर्ता किसी से नगद राशि किसी भी रूप में नहीं ले रहे हैं लेकिन बाहर से आने वाले कथा श्रोताओं के लिए भोजन, आवास, आवागमन, पानी, स्वच्छता आदि के लिए जो भी लोग सहयोग करना चाहते हैं उनका स्वागत है।
बैतूल के प्रसिध्द ज्योतिषाचार्य पं कांतू दीक्षित ने कहा कि जिस भूमि पर कथा होती है वह ईश्वर के लिए भी वंदनीय हो जाती है। बैतूल नपाध्यक्ष श्रीमती पार्वती बारस्कर ने हर तरह से सहयोग का आश्वासन दिया। राजीव खंडेलवाल, अलकेश आर्य, हेमंत देशमुख, मयंक भार्गव, सोनू धोटे, श्रीमती रश्मि बाथरे समेत काफी गणमान्य लोगों ने अपने सुझाव प्रस्तुत किए।
कार्यक्रम के सहसंयोजक व्दय अमर किलेदार आशु और योगी खंडेलवाल ने सभी का आभार मानते हुए कहा कि इस विशालतम कार्यक्रम में एक लाख से अधिक शिवभक्त प्रथम दिन से आएंगे जिनकी संख्या प्रतिदिन बढ़ती जाएगी। उन्होंने आम लोगों के अलावा पुलिस, प्रशासन सभी से इस कार्यक्रम को सुरक्षित, सुव्यवस्थित बनाने की अपील की। कार्यक्रम का संचालन सुनील व्दिवेदी ने किया।
इस कार्यक्रम में श्याम अग्रवाल, प्रशांत गर्ग, बबलू दुबे, राजू अग्रवाल, अरूण सिंह किलेदार, बबलू खुराना, पिंटू परिहार, राजू किलेदार, प्रवीण गुगनानी, गौरव किलेदार, ॠषिराज परिहार, डॉ. राजेन्द्र देशमुख, डॉ. सतीश खंडेलवाल, सदन आर्य, राजेश आहूजा, एसएन वर्मा,अभिषेक खंडेलवाल, सीताराम चढोकार, राजेन्द्र साहू, अरूण श्रीवास्तव, रजनीश जैन, विवेक मालवीय, जगदीश सिंह राघव, अनिल राठौर, अशोक मिश्रा, रामप्रसाद राठौर, जगदीश अग्रवाल, शिवपाल सिंह राजपूत, तरूण वैद्य, रघुवर सोनी, गगनेश प्रताप सिंह, पप्पी शूक्ले, मनोज भार्गव, मंजीत साहनी, छुट्टन पाल, राजेश दीक्षित, मीनाक्षी शुक्ला, कंचन आहूजा, नीलम दुबे, माधुरी साबले, नीलम कौशिक सहित बड़ी संख्या में गणमान्य लोग उपस्थित थे।
समितियों के लिए पंजीयन आरंभ : कथास्थल पर ही सभी के सुझाव रिकार्ड किए गए और सेवा समितियों के पंजीयन भी आरंभ किया गया। कथास्थल पर एक कार्यालय आरंभ किया गया है जहां दिन भर पंजीयन चालू रहेगा।