पीले चावल एवं आमंत्रण पत्र देकर भारत जोड़ो यात्रा में जनता को आमंत्रित करेगी युवा कांग्रेस-अंशू मिश्रा।

Scn news india

संवाददाता सुनील यादव 

आगामी 21 नवम्बर को कन्याकुमारी से कश्मीर तक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में निकाली जा रही भारत जोड़ो यात्रा मप्र में प्रवेश कर रही है,मप्र कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने युवा कांग्रेस को महत्वपूर्ण दयत्व सौपा है,जिसे लेकर युवा कांग्रेस ने तैयारियाँ प्रारंभ कर दी है,कल समूचे प्रदेश में युवा कांग्रेस में पत्रकार वार्ता आयोजित की,कटनी में युवा कांग्रेस ज़िलाध्यक्ष दिव्यांशु मिश्रा अंशु ने भी पत्रकार वार्ता आयोजित कर बताया की मप्र में यात्रा हेतु प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया के नेतृत्व में प्रदेश भर से लाखों युवा इस यात्रा में शामिल होंगे।प्रतिदिन 25 किलोमीटर की यह पद यात्रा 12 प्रदेशों एवं 2 केंद्र शासक प्रदेशों में लगभग 3500 किलोमीटर की दूरी लगभग 150 दिनों में तय करेगी।

यह यात्रा मप्र के बुरहानपुर से प्रवेश करेगी,फिर खंडवा,खरगोन,महु,इंदौर,उज्जैन,से होकर अगर मालवा से राजस्थान को जायेगी।कटनी ज़िले की इस यात्रा में अहम ज़िम्मेदारी सौपी गई है,युवा कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता यात्रा के शुरुआत से ही राहुल गांधी के संग कदम से कदम मिलाकर चलेंगे एवं अन्य व्यवस्थाओं को सम्भालेंगे।अंशु मिश्रा ने कहा जो लोग भय कट्टरता,पूर्वाग्रह की राजनीति,बढ़ती बेरोज़गारी,असमानता की राजनीति का विकल्प चाहते है,वह इस यात्रा में ज़रूर हिस्सा ले।युवा कांग्रेस घर घर जाकर पीले चावल एवं आमंत्रण पत्र देकर लोगो को यात्रा में आमंत्रित करेगी,यह मुहिम युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा 14 नवम्बर से कटनी ज़िले में चलाई जायेगी।कार्यकर्ता 20 नवम्बर को यात्रा के लिए रवाना होंगे।भाजपा इस यात्रा का विरोध इसिलिया करती है क्योकि वह जोड़ने में नहीं तोड़ने में भरोसा रखती है।जातियाँ टूट रही है,समाज टूट रहा है,युवाओं के भविष्य का सपना टूट रहा है,किसानों की आस टूट रही है,भूखे पेटों की साांस टूट रही है,मध्यम वर्ग की कमर टूट रही है,देश की इस हालत की ज़िम्मेदार भारतीय जनता पार्टी की सरकार पूँजीपतियों के सामने अपने परै में घघुरू बाांध चुकी है,और यह हम ही आँकड़े भी यही कहते है।बेरोजगारी हो,महंगाई हो,शिक्षा हो, देश में किसानों की स्थिति हो,जीडीपी हो,दलितों पर अत्याचार की बात हो,सांप्रदायिक हिंसा हो,अमीरों की जेब भराई हो,आप किसी भी बिंदु को उठाकर देख लीजिए।इन के आँकड़ों को देख लीजिए,तो आपको समझ में आ जाएगा की दशे में इतनी बुरी अवस्था में कभी नहीं था, राहुल गाांधी जी की भारत जोडो यात्रा भारत की सत्ता में क्या परिवर्तन करेगी या नहीं करेगी,हम नहीं जानते लेकिन भारत को जोडने के नाम पर जनता से मिलने वाला प्यार और समर्थन यह तो इशारा करता है की देश को तोडा तो गया है।और इस यात्रा के माध्यम से लोगो तक पहुँच कार उनकी समस्या सुनकर राहुल गांधी देश को जोड़ने निकले है,जिसमे हम सब उनके साथ पूरी ताक़त से साथ रहेंगे।युवा कांग्रेस ने समस्त ज़िले वसियों से यात्रा में शामिल होने की विनम्र अपील की है।