क्षेत्र की शान है पूर्णा-मेंला। बेहतर व्यवस्थाओ के बीच लोग मेले का उठा रहे लुत्फ

Scn news india

धनराज साहू तहसील ब्यूरो

कार्तिक पूर्णिमा के शुभ अवसर पर भैंसदेही- गुदगांव मार्ग (देवलवाड़ा) पर पडने वाली पूर्णा नदी पर लगने वाला “पूर्णा- मेला” लोगों की आस्था का केंद्र बना हुआ है। यह पूर्णा मेला क्षेत्र की शान है जहां दूरदराज से बड़ी संख्या में श्रद्धालु एवं आमजन आते हैं। जहां लोग अपनी मन्नत के अनुसार पूजा पाठ कर पुण्य लाभ अर्जित करते हैं।

मेले में जनपद पंचायत भैंसदेही द्वारा व्यवस्थाएं बनाकर मेले का संचालन किया जाता है। पहले कोरोनाकाल के चलते मेला नहीं लग पाया था तथा पिछले वर्ष आनन-फानन में ऐन वक्त पर जैसे- तैसे मेले का आयोजन कर जल्द ही मेला समाप्त कर दिया गया था। इस कारण इस वर्ष मेला लंबा चलने की संभावना है। पूर्व में मेला स्थल पर मुख्य रोड पर दोनों साइडों में दुकाने लगने से मेले में रोड पर काफी भीड़ इकट्ठा हो जाया करती थी जिससे आवागमन में भारी परेशानी होती थी तथा दुर्घटनाओं की भी आशंका बनी रहती थी।

किंतु इस बार जनपद पंचायत द्वारा बेहतर पहल करते हुए रोड को खाली रखा गया है। जिससे वाहनों के आवागमन में सुविधा हो रही है वही दुर्घटनाओं की आशंकाओं से भी मुक्ति मिली है। पुलिस प्रशासन की ओर से संवेदनशील निरीक्षक सतीश अंधवान के नेतृत्व में मेले में अवैधानिक गतिविधियों को रोकने तथा शांति व्यवस्था बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की जा रही है। इस बार मेले का विस्तार एवं फैलाव हो जाने से भीड़ से भी निजात मिली है। जिसके कारण मेले में ज्यादा भीड़ नजर नहीं आ रही है। लोग अपनी- अपनी सुविधाओं के अनुसार आसानी से मेले में पहुंचकर पूजन-अर्चन के साथ मेले का लुत्फ उठा रहे हैं।