मरार समाज कर्मचारी संघ की बैठक आयोजित

Scn news india

ओमकार पटेल 

मरार समाज कर्मचारी संघ मंडला  ग्राम मोचा के कोर्टयार्ड हाउस रिसोर्ट में मरार समाज कर्मचारी संघ की बैठक आयोजित हुई। बैठक में मंडला जिले के 30 कर्मचारी गण शामिल हुए। आज की बैठक हमारे जुझारू शिक्षक श्रीमान जानकी प्रसाद कांवरे जी के अभिवादन से प्रारंभ हुआ। तत्पश्चात् उपस्थित सभी कर्मचारियों का तिलक वंदन कर स्वागत किया गया। इसके बाद समाज के प्रतिभावान एवं सक्रिय मार्गदर्शक, शिक्षक श्रीमान प्रेम गिरधारी भांवरे जी के द्वारा बैठक के उद्देश्य पर प्रकाश डाला गया तथा सभी से विचार एवं मार्गदर्शन की अपेक्षा की गई। सभी ने समाज विकास के लिए अपना अपना विचार रखे। और नई ऊर्जा के साथ उभरते हुए, जिले में चल रहे कार्यों की सराहना करते हुए, सतत् सहयोग देने हेतु संकल्पित हुए। उभरते संगठन को मजबूत बनाने वाले शिक्षक श्रीमान परमानंद भांवरे जी के द्वारा इस पहल के शुरुआत से अब की स्थिति से सबको अवगत कराया गया।

जाम गांव सर्किल अध्यक्ष श्रीमान राजेश खरे जी, एवम् सचिव श्रीमान हेमराज भोरिया जी, के द्वारा अपने सर्किल के विकास कार्यों से सबको अवगत कराया गया, और अपने क्षेत्र के लोगों को रोज़गार से कैसे जोड़ा जाए? इस पर सभी कर्मचारियों से मार्गदर्शन लिए। श्रीमान हेमकरन भांवरे जी के द्वारा रोज़गार परक शिक्षा हेतु मार्गदर्शन दिया गया। श्रीमान गोधन कांवले जी ने कर्मचारियों से समाज की अपेक्षाओं को प्रकट किए। तथा अन्य सभी कर्मचारियों ने समाज विकास में भांति भांति से अपने भीतर उभरते विचार को प्रकट किए। समाज विकास के लिए लोगों का उत्साह देखते ही बनता था। सबके मन में विकास की धारा सी बह रही थी।

 इन मुद्दों पर हुई बातें…………

1. एक सप्ताह के अंदर जिले के सभी कर्मचारियों तथा आमजन की बैठक आयोजित की जावे। तथा उसी बैठक में मरार समाज कर्मचारी संघ का निर्माण किया जावे।
2. गूगल फॉर्म के माध्यम से बैठक के पूर्व जिला में कार्यरत शासकीय एवं अशासकीय कर्मचारियों की सूची संधारित की जावे।
3. सभी ग्रामों में अतिशीघ्र महिला एवं पुरुष का संगठन तैयार किया जावे। तत्पश्चात् महिला एवं पुरुष का सर्किल संगठन तैयार किया जावे।
4. सभी ग्रामों में महिला एवं पुरुष ग्राम संगठन के द्वारा नशामुक्ति हेतु जागरूकता रैली का आयोजन किया जावे। यदि आवश्यकता हो तो पुलिस प्रशासन का सहयोग लेकर यह कार्यक्रम आयोजित किया जावे।
5. जो कर्मचारी सामाजिक बैठक में उपस्थित नहीं हो रहे हैं उन्हें नोटिस देकर जवाब तलब किया जावे।

मोचा वालों ने किया भव्य आयोजन एवं स्वागत

सब यही सोच रहे थे कि ग्राम मोचा में किसी के घर में बैठक रखी गई होगी। लेकिन मोचा के समाज प्रेमी और हमारे साथी गण बड़े छुपे रुस्तम निकले, उहोंने तो धरती का स्वर्ग से अलंकृत प्रकृति की गोद , कोर्टयार्ड रिसोर्ट में अत्यंत शानदार व्यवस्था किए हुए थे। हम में से किसी ने ये अंदाज़ा भी नहीं लगाया था इतने मंहगे रिसोर्ट में लाजवाब व्यवस्था की गई होगी। जैसे ही सभी लोग रिसोर्ट के गेट पर पहुंचे, एक व्यक्ति रिसोर्ट के गेट तक लेने आया और हाथ जोड़कर अभिवादन किया इसके बाद रिसोर्ट के अंदर ले गए, वहां पर देखे तो सभी लोग अतिथियों के स्वागत के लिए एक कतार में खड़े हुए थे। उन्होंने सभी का हाथ जोड़कर अभिवादन किया और सबसे भेंट किए, तत्पश्चात् आवभगत करते हुए मीटिंग हाल में ले गए। इसके बाद स्विमिंग पूल के किनारे झरने के पास बैठक हेतु चेंबर तैयार किया गया था, वहां पर सभी को बैठाकर स्वागत सत्कार किया गया। श्री सुखचैन भांवरे जी, जो कि कोर्टयार्ड हाउस रिसॉर्ट में हेड सेफ के पद पर कार्यरत हैं उनके द्वारा सामाजिक बैठक के लिए इस रिसॉर्ट को निःशुल्क बुक कराया गया। जिसके लिए मरार समाज कर्मचारी संघ हृदय की गहराई से श्री सुखचैन जी को धन्यवाद् ज्ञापित करता है। एवं सभी मोचा वालों की इतने आकर्षक आयोजन के लिए सराहना करता है। बस यही कहना है कि मोचा वालों ने आज की बैठक को यादगार बना दिया।

जिस स्थान में बैठक रखा गया था उसकी छटा मन को मोह रही थी। स्विमिंग पूल के निर्मल जल को देखकर मानो सबका मन तैरने के लिए उद्विग्न हो रहा था। आसपास शोभायमान सुंदर सुंदर पेड़ पौधे तथा उनमें बैठे पक्षियों की आवाज मनभावन लग रही थी। झरने की कल कल करती आवाज बैठक के बीच मानो संगीत का सुर भर रहे थे। इन सबका आनंद लेते हुए बैठक चलती रही। इस बीच मन में एक ही प्रश्न उठ रहा था की काश ऐसा रिसॉर्ट हमारे समाज का होता तो हमारी ख़ुशी का ठिकाना ना होता। वहां के प्रकृति की शोभा देखकर विकास की सिराओं में आशा की रक्त धारा तीव्र वेग से बह रही थी। मानो वो कह रही थी कि ……………..

अब भी समय है जागो, जन जन को तुम जगाओ।
समाज में सुधारक, बनकर के जग मगाओ।।
फैली हुई बुराई को, दूर तुम भगाओ।
तुम चार हो अगर तो, चालीस को साथ लाओ।।
गर वृद्ध हो गए तो, धर्म पिता का निभाओ।
जो आगे आ रहे हैं, आगे उन्हें बढ़ाओ।।
सब सौंप कर के उनको, कुलदीप को जलाओ।
तुम साथ लो उन्हें और, तुम उनके साथ आओ।।
पाखंड, नशा, कुरीति, अंधकार को मिटाओ।
रोज़गार, शिक्षा की जड़, मजबूत तुम बनाओ।।(प्रेम)

आज की बैठक में उपस्थित जन
श्री कोमल प्रसाद भांवरे (ज़िला सह सचिव एवं ग्राम पंचायत सचिव केहरपुर) श्री गोधन कावले जी ( प्रगतिशील समाज के शुभ चिंतक इंद्री), श्री प्रेम गिरधारी भांवरे (समाज में शिक्षा एवं रोज़गार की अलख जगाने वाले शिक्षक आमाडोंगरी), श्री परमानन्द भांवरे जी (गूगल मीटिंग के संचालक शिक्षक इंद्री), श्री लखन भांवरे जी (शिक्षक बहेरी), श्री अशोक कुमार भांवरे जी (मलारी) श्री नन्द कुमार भांवरे जी (मलारी), डॉ. राजेश खरे जी (वर्तमान सर्किल अध्यक्ष जामगांव), डॉ. राजेश कुमार भांवरे (रमगढ़ी), श्री हेमराज भोरिया जी (सर्किल सचिव जामगांव), श्री हेमकरन भांवरे (एन जी ओ संचालक निवारी), डॉ. नीलकंठ भांवरे जी (ग्राम इंद्री क्लीनिक ककैया) श्री राम कुमार भांवरे जी (रमगढ़ी) श्री नान बीर भांवरे जी (ककैया)।

मोचा से निम्न साथी उपस्थित रहे
श्री केवल कावरे जी (ग्राम अध्यक्ष) श्री तीरथ कावरे (ग्राम सचिव) श्री सुखचैन भांवरे जी (सेफ कोडियार्ट हाउस), श्री अनिल भांवरे जी (मैनेजर किंगफिशर) श्री दीनाराम कावरे जी (सेफ स्टलिंग रिसोर्ट), श्री पवन कुमार भांवरे जी (मोबाइल शॉप) श्री मुकेश कुमार पंचेश्वर जी (सौम्या रेस्टोरेंट ऑनर), श्री परसराम भांवरे जी (हिमांशु फास्ट फूड एवम ग्राम संचालक), श्री संतोष कुमार भांवरे जी (सेफ महुआ टाइगर रिसॉर्ट), श्री भीम भांवरे जी (वर्कर महुआ रिसोर्ट), श्री श्याम भांवरे जी (मैनेजर महुआ रिसोर्ट), श्री रामचरण कावरे जी (सेफ रिसोर्ट रोजवुड), श्री जानकी प्रसाद कांवरे जी (शिक्षक) श्री अशोक कुमार भांवरे जी (कियोस्क संचालक) श्री नेमीलाल नागेश्वर जी (किराना दुकान एंड जनरल स्टोर) आदि समाज सेवी जन उपस्थित रहे।