काकड़ा आरती और भजन कीर्तन से होती विधुत नगरी सारणी की प्रातः

Scn news india

राम क्रेश हनोते की रिपोर्ट 

विधुत नगरी सारणी में प्रातः सूर्योदय से पूर्व प्रभात फेरी में सुबह की शुरुआत काकड़ा आरती और भजन कीर्तन से होती है। ये सिलसिला विगत कई वर्षो से चला आ रहा है। जानकारी देते हुए श्री पंडरी नाथ धोटे ने बताया की  विगत छैः वर्षो से , उनकी टोली नगर की सुख समृद्धि की कामता करते हुए  काकड़ा आरती  एवं भजन कीर्तन गाते हुए  नगर भ्रमण करती है। यह सिलसिला प्रतिवर्ष   शरद पूर्णिमा से कार्तिक पूर्णिमा तक चलता है। जिसमे प्रातः 4 बजे से सुबह के 8 बजे तक भ्रमण कार्यक्रम जारी रहता है। जिसका समापन कार्तिक पूर्णिमा को  ताप्ती नदी के किनारे भंडारे आदि का आयोजन कर किया जाता है।