डॉ आरती सोनिया की लापरवाही से परिवार मानसिक शारीरिक एवं आर्थिक रूप से प्रताड़ित – परिजनों ने लगाया आरोप

Scn news india

संवाददाता सुनील यादव 

  • डॉ आरती सोनिया की लापरवाही से परिवार मानसिक शारीरिक एवं आर्थिक रूप से प्रताड़ित परिजनों ने लगाया आरोप ,
  • महिला चिकित्सक के खिलाफ की विधि संगत जांच की मांग

कटनी ॥ शास्त्री कालोनी निवासी शिखा पंकज अवस्थी 28 वर्ष के पति पंकज अवस्थी एवं समाजसेवियों नें कटनी जिला चिकित्सालय के सीएमएचओ कों एक ज्ञापन पत्र सौप महिला चिकित्सक डाक्टर आरती सोधिया के खिलाफ विधिसंगत जांच की मांग करते हुए डाक्टर का लाईसेन्स रद्द करने की मांग की है । जिससे भविष्य में इस तरह का कृत्य किसी दूसरे के साथ ना हो परिजनों का आरोप है की महिला चिकित्सक कों बच्चे के संबंध में सारी जानकारी होने के बावजूद भी अंधेरे में रखा गया जिसके कारण पूरा परिवार सहित जन्मी बच्ची दिन प्रतिदिन दर्दभरी बीमारी को झेल रही है। इस संबंद्ध में शिखा पंकज अवस्थी 28 वर्ष के पति पंकज अवस्थी नें जानकारी में बताया कि जब उनकी पत्नी दिसम्बर – जनवरी में गर्भवती हुई तो 15 मार्च 2022 को अपनी पत्नी को चिकित्सकीय परामर्श हेतु शासकीय चिकित्सालय में लाकर इलाज कराया । उसी समय एक चिकित्सालय में पदस्थ नर्स के द्वारा महिला चिकित्सक डॉ .आरती सोधिया को उनके निवास पर संचालित प्राइवेट क्लीनिक शासकीय चिकित्सालय में दिखायें । 06 अप्रैल 2022 को शिखा पंकज अवस्थी कों डॉ.आरती सोंधिया को उनके निवास प्राइवेट चिकित्सालय में दिखाया । उनके निर्देश में सोनोग्राफी 07/04/2022 को कराकर रिपोर्ट डॉ आरती सोधिया को दिखाई , उन्हें रिपोर्ट पश्चात दवाईया लिखी व उनके मिले निर्देश पर निरंतर इलाज चलता रहा । उनके आदेश पर दि . 15/07/2022 को पुनः ज्योत्सना सोनोग्राफी में जांच कराई जांचकर्ता डॉ . साटवे ने कहा कि तुम्हारी पुरानी जांच दि . 07/04/2022 की रिपोर्ट में लिखा था बीमारी गंभीर है अतः एवॉर्सन कराना था , अब आप पुनः आरती साँधिया से संपर्क करें । मैं रिपोर्ट लेकर डॉ . सौंधिया के पास गया और वहां कहा की सोनोग्राफी आपके पहले वाली नहीं पढ़ी और लापरवाही की है जिससे मेरे बच्चे का भविष्य संकट में है । डॉ . सोधिया ने कहा कि मेरे से गलती हो गयी है , डिलेयरी प्राइवेट में करा लो । मैंने उनके निर्देश पर डॉ . मनीषा साहू के यहां डिलेवरी कराई , नवजात बच्ची की पीठ में घाव है एवं सिर पर पानी भरा है जिसका इलाज नहीं है ऐसा डॉक्टर ने बताया है । अता डॉ . सोधिया की घोर लापरवाही की है जिसके कारण अवस्थी
परिवार मानसिक , शारीरिक एवं आर्थिक प्रताड़ना के शिकार हो गये है । अतः डॉ आरती सोंधिया के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की है ॥