क्या मैं रोज गड्‌ढों की खबरें ही पढ़ता रहूं-15 दिन बाद उन्हीं सड़कों पर फिर निकलूंगा – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

Scn news india

मनोहर

प्रदेश में अतिवृष्टि से जहाँ जनजीवन प्रभावित हुआ है वहीँ  भारी बारिश से   सड़कें भी जगह-जगह से उखड़ गई हैं। अब इन गड्ढों से  धूल और उड़ रही है। और वाहन चालक परेशान है साथ ही आम जनता भी बेहद परेशान है। कुछ ऐसा ही अनुभव प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी भोपाल में  सड़कों से गुजरने पर मिला। जिस पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए सीएम ने वीसी के जरिये अधिकारियों की क्लास लगा दी।

उन्होंने कहा की  ‘मैं कल अचानक भोपाल की सड़कों पर निकला। हमीदिया रोड से शाहजहानाबाद होते हुए गुजरा। मुझे कल्पना नहीं थी कि सड़कों की हालत इतनी ज्यादा खराब होगी। ये रोड किसके पास है। PWD और आप लोग यह बताएं कि सड़कों की जब राजधानी में इतनी दुर्गति है तो बाकी जगह क्या हालत होगी। अखबार गड्‌ढों की खबरों से भरे पड़े हैं। क्या मैं रोज गड्‌ढों की खबरें ही पढ़ता रहूं, ऐसा थोड़ी चलेगा। हम अकर्मण्य क्यों हैं, समय पर काम शुरू क्यों नहीं करते। कुछ दिक्कत है तो मुझसे कहो। यह मुझे ठीक नहीं लगा। 15 दिन बाद उन्हीं सड़कों पर फिर निकलूंगा।’

गौरतलब है कि ग्वालियर में भी सड़कें नहीं बनने से नाराज सिंधिया समर्थक ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने चार दिन पहले जूते -चप्पल त्याग दिये है । उन्होंने सड़कें न बनवा पाने पर शहर की जनता से माफी भी मांगी है। तोमर ने कहा- जब तक लक्ष्मण तलैया, गेंडेवाली सड़क और जेएएच की रोड चलने लायक नहीं बन जाएंगी, तब तक जूते-चप्पल नहीं पहनेंगे।