गोली मार कर तीन लोगों की हत्या  से हड़कंप,सभी आरोपी फरार,विवाद में चलाई गोली

Scn news india

मनोहर

दमोह जिले में दीपावली के दिन गोली मार कर तीन लोगों की हत्या  से हड़कंप मच गया। घटना आरोपी पक्ष की महिला से छेड़छाड़ के विवाद से शुरू हो कर हत्या तक पंहुच गई।  और दलित परिवार के तीन लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई।  मामले में एक ही परिवार के 6 लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की गई है।  घटना की जानकारी लगते ही पुलिस अधीक्षक सहित अन्य अधिकारी ने घटनास्थल  पर पहुंचे।  इस वारदात में दो युवक घायल भी हुए, जिनका जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। घटना के बाद पूरे इलाके में दहशत का माहौल है।

वहीं सुचना पर कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य घटनास्थल पर पहुंचे। जिन्होंने  मामले में  नियमानुसार कार्रवाई कोई जाने की बात की है। उन्होंने कहा की घटना दुःखद है। किसी को भी बक्शा नहीं जाएगा। पुलिस द्वारा गंभीरता से मामले की जांच की जा रही है।  इसके अलावा शासन द्वारा अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम के तहत मृतक के परिवारजनों को निर्धारित मदद प्रदान की जाएगी।

वहीँ जिले के एसपी डी आर तेनीवार के अनुसार देहात थाना अंतर्गत ग्राम देवरान में मंगलवार की सुबह 6:30 बजे महिला से छेड़छाड़ संबंधी विवाद पर जगदीश पटेल एवं घमंडी अहिरवार परिवार के दो लोगों के बीच गाली-गलौज हुई थी।  यह विवाद इतना बढ़ गया कि जगदीश पटेल के परिवार के लोगों द्वारा मां-बेटे और पिता की गोली मारकर हत्या कर दी गई।  इस गोलीबारी में दो लोग गंभीर रूप से घायल हुए है , जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

एसपी डी आर तेनीवार के मुताबिक इस घटना में जगदीश पटेल के परिवार के छह लोगो के नाम सामने आए हैं।  घमंडी अहिरवार के परिवार पर गोली चलाने वालों में जगदीश पटेल, सौरभ पटेल, मनीष पटेल, शुभम पटेल, कोदू पटेल, घनश्याम पटेल सभी निवासी देवरान के विरुद्ध हत्या, अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है।  घटना के बाद से सभी आरोपी फरार बताए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दमोह जिले में गोलीबारी की घटना पर दुख व्यक्त किया

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने दमोह जिले के देहात थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम देवरान में गोलीबारी की घटना में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की असामयिक मृत्यु होने पर दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को शांति और शोकाकुल परिवार को यह दुख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की है। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना भी की है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिले के प्रशासनिक अधिकारियों को प्रभावितों को उचित आर्थिक सहायता देने और घटना की जाँच कर दोषियों को कठोरतम सजा दिलाने के निर्देश दिए हैं।