ग्राम पंचायत की शमशान भूमि पर अवैध कब्जा-जिम्मेदार अधिकारियों पर लगे जुर्माने तो हो जाएंगे अवैध कब्जे बंद

Scn news india

ओमकार पटेल 

दबंगो का सरकारी जमीनों पर कब्ज़ा जमाने का सिलसिला बदस्तूर जारी है , अब जमीन बची नहीं तो अंतिम यात्रा के स्थान पर भी नजरें गड़ने लगी है। बिछिया जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत झिगराघाट में ऐसा ही नजारा देखने में आया है।  जहाँ सूत्रों से अवैध कब्जे  की जानकारी मिली है। सूत्र बताते है की  झिगराघाट में   शमशान की भूमि पर अवैध रूप से कब्जा धारियों ने अपना कब्जा कर लिया। जिसे लोग नव निर्वाचित सरपंच की लापरवाही भी मान रहे है।  जब इस सिलसिले में नवनिर्वाचित सरपंच शिशुपाल सिरसाम के संपर्क करने की कोशिश की तो पंचायत में टाला और मोबाइल  नेटवर्क से बाहर मिला।

बता दे की यदाकदा अतिक्रमण की शिकायत के बाद ऊपर से आदेश आने पर प्रशासन कारवाही तो करता है , वहीँ भारी दलबल और  मशीने ले जाकर अवैध निर्माण भी तोड़ता है। लेकिन जरा सोचिये इस कारवाही में बिल तो शासन के नाम ही फटता है। और जनता के पैसे का नुकसान होता है। जिस पैसे को विकास के कार्य में खर्च किया जा सकता था । अच्छा होता की अतिक्रमण होने की सुचना पर ही जिम्मेदार अधिकारी द्वारा त्वरित कारवाही की  जाती। तो ना दलबल और मशीने लगती ,ना ही शासन को क्षति होती। शासन यदि इस पूरी कारवाही का खर्च जुर्माने के साथ जिम्मेदार अधिकारियों के वेतन से काटने लगे तो निश्चित ऐसे अतिक्रमण होने ही बंद हो जाएंगे।