कलेक्टर ने की राष्ट्रीय पशुधन मिशन एवं पशुपालन क्रेडिट कार्ड योजना की समीक्षा

Scn news india

कामता तिवारी
संभागीय ब्यूरो रीवा
Scn news India

हितग्राही एवं बैंकर्स से समक्ष में जानी प्रकरणों के ऋण स्वीकृति की हकीकत
प्रस्तुत प्रकरणों के स्वीकृति में बैंक द्वारा अकारण की जा रही हीलाहवाली पर व्यक्त की नाराजगी

रीवा- कलेक्टर मनोज पुष्प ने राष्ट्रीय पशुधन मिशन अन्तर्गत पशुधन एवं कुक्कुट के नस्ल विकास, बकरी पालन एवं चरी और चारा विकास उपमिशन योजना के साथ ही पशु पालन किसान क्रेडिट कार्ड योजना की समीक्षा की। उन्होंने हितग्राहियों एवं बैंकर्स के समक्ष में प्रकरणों की जानकारी ली तथा बैंक द्वारा अकारण प्रस्तुत प्रकरणों में देरी करने व प्रकरण वापस किये जाने को गंभीरता से लेते हुए नाराजगी व्यक्त की तथा कहा कि तत्संबंध में संबंधित बैंक के प्रमुख को लेख किया जायेगा तथा स्थानीय स्तर पर कड़ी कार्यवाही भी प्रस्तावित की जायेगी।
कलेक्ट्रेट के मोहन सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिये कि प्रकरण प्रस्तुत किये जाने के समय ही उसका पूरी तरह परीक्षण कर बैंक स्वीकृति या वापस किये जाने की समीक्षा कर कार्यवाही करें। अनावश्यक या अकारण उसमें किसी भी प्रकार की देरी न की जाय। उन्होंने पशुपालन, कुक्कुट पालन व बकरी पालन के उद्यमियों की स्थापना के साथ ही सूकर पालक उद्यमियों को बढ़ावा दिये जाने की बात कही। उन्होंने पशु पालन विभाग को निर्देशित किया कि सभी योजनाओं के अधिक से अधिक प्रकरण बैंकों को प्रेषित करें ताकि स्वीकृति देने में सहूलियत रहे। कलेक्टर ने आचार्य विद्यासागर गौसंवर्धन योजना एवं मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना के तहत प्रकरण बनाकर स्वीकृति दिलाये जाने के निर्देश संबंधितों को दिये। बैठक में कलेक्टर द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड बनाये जाने की समीक्षा की गई। उन्होंने निर्देशित किया कि पशुपालकों के किसान क्रेडिट कार्ड अभियान चलाकर बनाये तथा मत्स्य पालकों के किसान क्रेडिट कार्ड बनाने हेतु गोविंदगढ़, सेमरिया एवं हनुमना में कैंप आयोजित किये जांय ताकि अधिक से अधिक मछुआरों के किसान क्रेडिट कार्ड बनाये जा सकें। उन्होंने अम्बेडकर आर्थिक कल्याण योजनान्तर्गत सूकर पालकों को प्रकरण स्वीकृत किये जाने में तत्परता बरतने के निर्देश दिये। बैठक में राष्ट्रीय गोकुल मिशन के तहत प्रकरण प्रस्तुत किये जाने के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिये गये। उन्होंने स्वसहायता समूहों को भी इन गतिविधियों से जोड़कर ऋण दिलाने जाने की बात कही। इस अवसर पर उप संचालक पशुपालन डॉ. राजेश मिश्रा ने विभाग अन्तर्गत योजनाओं के तहत बैंकों में प्रकरणों के प्रस्तुत किये जाने व स्वीकृति एवं वितरण की विस्तार से जानकारी दी। बैठक में अग्रणी जिला प्रबंधक एसके निगम सहित बैंकर्स एवं संबंधित विभागीय अधिकारी व हितग्राही उपस्थित रहे।