नशामुक्त रीवा के लिए प्रशासन, पुलिस एवं जनसहयोग से की गई पहल

Scn news india

कामता तिवारी
संभागीय ब्यूरो रीवा
Scn news India

शैक्षणिक संस्थाओं की 100 मीटर की परिधि की दुकानों से बरामद नशा सामग्री को कराया गया नष्ट

रीवा- नशामुक्त भारत अभियान के तहत रीवा को नशा से पूर्णत: मुक्त करने के उद्देश्य से प्रशासन, पुलिस एवं स्वयंसेवी संगठनों की पहल से शहर के शैक्षणिक संस्थाओं की 100 मीटर की सीमा क्षेत्र की आधा दर्जन से अधिक दुकानों से बरामद नशा सामग्री नष्ट कराई गई। कलेक्टर मनोज पुष्प एवं पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन के मार्गदर्शन में नशे के विरूद्ध कार्यवाही के तहत प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों के दल ने शहर के शैक्षणिक संस्थाओं के पास की दुकानों, गुमटियों में दबिश देकर नशा सामग्री को जप्त कराकर मौके पर ही नष्ट कराया । दुकानदारों को समझाइश दी गई कि नशा सामग्री की बिक्री न करें। साथ ही उन्हें हिदायत दी गई कि भविष्य में यदि नशा सामग्री बेचते हुए पाया गया तो कठोरतम कार्यवाही की जाएगी।
इससे पूर्व कलेक्ट्रेट के मोहन सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर मनोज पुष्प ने कहा कि एकजुट होकर नशामुक्ति के लिए प्रयास करें तथा रीवा को नशामुक्त बनाएं। उन्होंने कहा कि न केवल हमारे समुदाय, परिवार, दोस्त बल्कि स्वयं को भी नशामुक्त बनाना है। परिवर्तन अंदर से प्रारंभ होता है अत: लोगों को जागरूक करें। बैठक में पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने छ: अलग-अलग टीमें गठित कर तत्काल कार्यवाही प्रारंभ करने के निर्देश दिए। बैठक समाप्ति के तत्काल बाद ही टीमों ने शहर की शैक्षणिक संस्थाओं के पास की दुकानों में दबिश देकर नशा सामग्री जप्त कराकर इसे नष्ट कराया। कलेक्टर ने स्पष्ट तौर पर निर्देशित किया है कि यदि पुन: दुकानों से नशा सामग्री जैसे गुटखा, तम्बाकू, गांजा या अन्य नशीली सिरप व सामग्री जप्त होगी तो संबंधित दुकानदार के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह अभियान तब तक चलेगा जब तक कि रीवा पूर्णत: नशामुक्त नहीं हो जाता। उल्लेखनीय है कि इसके साथ ही जिले में नशे के विरूद्ध अन्य कार्यवाहियाँ भी लगातार की जा रही हैं। बैठक में उपस्थितजनों को नशामुक्त रीवा का संकल्प दिलाया गया। इस अवसर पर अपर कलेक्टर शैलेन्द्र सिंह, एसडीएम अनुराग तिवारी, संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय अनिल दुबे, डिप्टी कलेक्टर संजीव पाण्डेय, नशामुक्त भारत अभियान के तहत रीवा के लिए भारत सरकार के सामाजिक न्याय मंत्रालय से नियुक्त प्रतिनिधि सुश्री काव्या सहित प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी, शिक्षण संस्थाओं के प्रमुख, स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।