इटारसी जी आर पी ने किया तीस लाख रुपये की चोरी का खुलासा आरोपीयो को किया गिरफ्तार

Scn news india

मनीष मालवीय 

इटारसी // जीआरपी इटारसी के क्षेत्रांतर्गत ट्रेनों में हो रहे अपराधों की रोकथाम, पतारसी एवं यात्रियों के जान माल की सुरक्षा अपराधियों की धर पकड़ हेतु श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय रेल भोपाल, श्री हितेश चौधरी (भा.पु.से.) के द्वारा दिए गये निर्देशों के
पालन में एवं श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय रेल भोपाल, डॉ० अमित वर्मा व उप पुलिस अधीक्षक महोदय रेल इटारसी, श्रीमति अर्चना शर्मा के मार्गदर्शन के अनुक्रम मे जीआरपी इटारसी पुलिस द्वारा सतत् चेकिंग एवं गश्त ड्यूटी सतर्कता पूर्वक की जा रही है। इसी अनुक्रम मे जीआरपी इटारसी पुलिस को ट्रेन मे चोरी किए हुये 30 लाख रुपए नगद, 65 हजार की मोटरसाइकल, अन्य सामान सहित 02 गंभीर आदतन आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है।
घटना का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है दिनांक 14.10.22 को फरियादिया रवीना कोरी निवासी जबलपुर की अपने सेठ जी जिनका खिलौने और इलेक्ट्रिक सामान के बड़े स्तर पर विक्रय का व्यवसाय है, जिनकी दुकाने करमचंद चौक मार्केट जबलपुर में है
। दिवाली का त्योहार होने से सामानो की डिलेवरी का भुगतान करने के लिए योजना अनुरूप 30 लाख रुपए एवं अन्य सामान लेकर ट्रेन नं0 12321 हावड़ा मेल से जाने के लिए एक नीले रंग का पिट्ठू बैग मे पैसा रख कर करमचंद चौक मार्केट जबलपुर से मुंबई पेमेंट करने हेतु फरियादिया रवाना हुई थी। पूर्व मे भी फरियादिया सामानो की डिलेवरी के बाद अपने सेठ का भुगतान करने के लिए मुंबई कई बार जा चुकी है। घटना दिनांक को फरियादिया पैसा लेकर करमचंद मार्केट से होते हुये जब जबलपुर जंक्शन पहुची और हावड़ा मेल के स्लीपर कोच S/4 से जबलपुर से मुंबई रवाना हुई। ट्रेन के जबलपुर स्टेशन से चलने के बाद इटारसी तक फरियादिया जागती रही,उसके बाद उसकी नींद लग गई। जब फरियादिया की नींद हरदा स्टेशन पर खुली तो देखा की उसका पिट्ठू बैग जो उसके सिर के पास रखा था वह नहीं था। जिसके बाद फरियादिया की रिपोर्ट पर थाना जीआरपी इटारसी मे अप0क्र0 532/22 धारा 379 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया ।


घटना के संबंध मे फरियादिया से विस्तार से घटना की जानकारी लेते हुए मामले को गंभीरता से ले कर विवेचना प्रारम्भ की गई। विवेचना के दौरान यह जानकारी हुई की फरियादिया अपने सेठ के सामानो की डिलेवरी के बाद पहले भी कई बार भुगतान करने के लिए मुंबई जा चुकी है। फरियादिया के सेठ के दुकान करमचंद मार्केट जबलपुर से लेकर घटनास्थल हरदा तक लगभग 200 सीसीटीवी कैमरों को खंगाला गया। अवलोकन पर दो संदिग्ध को मोटरसाइकल से फरियादिया का पीछा उसके सेठ की दुकान से ही करते दिखे। पूर्व मे भी संदिग्ध फरियादिया का लगातार पीछा करते हुये पाये गए। इस बात की जानकारी आरोपीगणो को पूर्व से थी और आरोपीगण
कई बार फरियादिया का पीछा (रेकी) कर चुके है। संदिग्धों की यह बहुत बड़ी गैंग है जिसमे उक्त दो संदिग्ध घटना को घटित करने के लिए पूर्व योजनाबद्ध तरीके से फरियादिया का लगातार पीछा कर रहे थे और फरियादिया के एक-एक मूवमेंट पर नजर बनाए रखे थे। आरोपियों के संबंध मे सुराग मिलने पर अपराध विवेचना मे लगे थाना प्रभारी जीआरपी इटारसी बीभेंद्रु व्यंकट टांडिया को उनकी टीम के साथ तत्काल जबलपुर मुखबिर की सूचना पर रवाना किया गया। जबलपुर मे ज्ञात हुआ की संदिग्धों के कई
आपराधिक रिकार्ड थाना बेलबाग मे है। बिना विलंब किए टीम ने दोनों आरोपियों 01- अनुज गुप्ता उर्फ मेथा पिता दिलीप गुप्ता उम्र 25
अपराध का चोरी गया माल प्रथक-प्रथक 15-15 लाख रुपए कुल 30 लाख रुपए नगद, हेड फोन, चार्जर, फरियादिया का नीले रंग का बैग सहित नगदी जप्त कर लिया। आरोपी समय के अभाव के कारण नगद पैसों को अभी खर्च नहीं कर पाये थे। इटारसी जीआरपी पुलिस टीम की त्वरित कार्यवाही से बड़ी मात्रा
छोटा पर्स, कपड़े, एवं बड़ा बैग एवं अन्य सामान बरामद किया गया। दोनों आरोपियों ने आपस मे 15-15 लाख रुपए बाँट लिए थे और चोरी गया नगद रुपए खर्च करने के पूर्व ही पकड़ लिया गया। तथा जिस मोटरसाइकल से फरियादिया का लगातार पीछा किया जा रहा था और इस बहुत बड़ी घटना को अंजाम देने में उपयोग किया गया उक्त मोटरसाइकल क्र० MP-20 NR-0869 को जप्त किया गया
। इस प्रकार लगभग 30 लाख 65 हजार रुपए का मसरूका एवं 02 अति गंभीर आदतन अपराधियों को जीआरपी इटारसी पुलिस को
पकड़ने एवं बहुत बड़े मामले का खुलासा करने मे सफलता मिली है। मामले की जानकारी सूचना एवं कार्यवाही हेतु इनकम टैक्स एवं
जीएसटी विभाग को दी जा रही है।
अहिरवार पिता साल नि० घमापुर चौक कंजर मोहल्ला नर्मदा मंदिर के सामने थाना बेलबाग जिला जबलपुर

नाम आरोपी – 01 :- अनुज गुप्ता उर्फ मेवा पिता दिलीप गुप्ता उम्र 25 साल नि० घमापुर चौक कंजर मोहल्ला नर्मदा मंदिर के सामने
थाना बेलबाग जिला जबलपुर।

02:-आनंद कुमार अहिरवार पिता रेवाराम उम्र 25 साल नि० सरकारी कुआँ महाराणा प्रताप चौक थाना बेलबाग जिला जबलपुर

नगदी 30 लाख, एक मोटर साइकल कीमती 65 हजार रुपए कुल की 30 लाख 65 हजार रु०
(30,65,000/50)

सराहनीय भूमिका – निरीक्षक बीभेंद्रु व्यंकट टांडिया, उ0नि0 आर.एस. बकोरिया, सउनि0 श्रीलाल पड़रिया, सउनि० ओ पी
गढ़वाल, सउनि जगन्नाथ सिंह, सउनि. नंदकिशोर ठाकुर, प्र0आर0678 कृष्णकुमार यादव प्र0आर0 418 सुरेश, प्र0आर0 381
तुलसीराम, प्र0आर. 276 निरंजन, आर.70 विजय बाँके, आर.651 विष्णु मूर्ति शुक्ल, आर.654 अंकित मलिक, आर.196 दीपक सेन,
आर. 226 बचन सिंह, म.आर.587 संगीता, म.आर. 150 तृप्ती, आर 59 मनोज, साइबर सेल से सउनि. नरेंद्र रावत, आर. संतोष पटेल
की भूमिका सराहनीय रही।