शाहपुर बीआरसी में नियम विरुद्ध बीएसी व सीएसी बनकर बैठे शिक्षक,राजनैतिक संरक्षण में मलाईदार पद पर वर्षों से काबिज़

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो 
बैतूल जिले के जनपद शिक्षा केंद्र शाहपुर के अंतर्गत बीएसी(विकासखण्ड अकादमिक समन्वयक) और सीएसी(जनशिक्षक) की नियुक्तियों में नियमों को ताक पर रखकर कार्य करवाए जा रहे है। शाहपुर जनपद शिक्षा केंद्र में एक ही विषय के दो बीएसी नियुक्त है जो नियमानुसार पूरी तरह ग़लत है। वंही सीएसी के आधा दर्जन पदों पर नियम विरुद्ध प्राथमिक शिक्षको को नियुक्त किया गया है। संचालक राज्य शिक्षा केन्द्र के आदेशानुसार सीएसी के पद पर माध्यमिक शिक्षक अथवा उच्चश्रेणी शिक्षक जिनकी उम्र 52 वर्ष से अधिक ना हो की नियुक्ति की जा सकती है। जिनके विरुद्ध कोई विभागीय जांच,आपराधिक प्रकरण और लंबे समय से अनुपस्थिति की शिकायत ना हो। लेकिन शाहपुर जन शिक्षा केन्द्र में अंधेर नगरी चौपट राजा वाली कहावत चरितार्थ हो रही है। और सीधे तौर पर नियमों को ताक पर रखकर कार्य किए जा रहे है। जानकारों की माने तो शाहपुर जनपद शिक्षा केन्द्र में पिछले 10 वर्षों से अधिक समय से कुछ नेतानुमा शिक्षक,शिक्षिका राजनीतिक जुगाड़ और मोटी रकम खर्च कर बीएसी और सीएसी के पद पर जमे हुए हैं। एक शिक्षकीय शाला होने के बावजूद इन शिक्षकों को अन्य कार्य मे लगाया गया है। अब सवाल यह उठता है कि ऐसे जुगाड़ू शिक्षकों पर कार्यवाही कौन करेगा और इनके जुगाड़ जमाने मे किन किन अधिकारियों ने नियमों की धज्जियां उड़ाई है।